कोयला मंत्रालय के वृक्षारोपण अभियान में लगाए जाएंगे 6 लाख से अधिक पौधे..

  
Last Updated:  Friday, July 24, 2020  "06:53 am"

नई दिल्ली : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने केंद्रीय कोयला, खान एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी की उपस्थिति में 6 इको पार्क व पर्यटन स्थलों का उदघाटन और शिलान्यास किया।
इस मौके पर गृहमंत्री शाह ने कहा कि आज जलवायु परिवर्तन से पूरी दुनिया डरी हुई है। केवल वृक्ष ही हमें इससे बचा सकते हैं।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के स्वप्न को साकार करने के लिए भारत कोयला आयात शून्य करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि 23 जुलाई को स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक और चन्द्रशेखर आज़ाद की जयंती है।इसके चलते यह वृक्षारोपण अभियान अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कोयला मंत्रालय से आग्रह किया कि इको पार्क व पर्यटन स्थलों को लोकमान्य तिलक और चन्द्रशेखर आज़ाद के नाम से जोड़े।

अभियान के तहत लगेंगे 6 लाख पौधे।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा इस ‘वृक्षारोपण अभियान’ के तहत 10 राज्यों के 38 जिलों में 130 से अधिक स्थानों पर 6 लाख पौधे लगाए जा रहे हैं, इसके लिए वे कोयला मंत्रालय को बधाई देते हैं।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मौके पर अपने आवास पर भी पौधारोपण किया।

अमित शाह ने कहा कि प्रकृति का दोहन हो, शोषण नहीं। शाश्वत सत्य यह है कि वृ़क्षों से जीवनदायिनी ऑक्सीजन मिलती है। वृक्षों से कार्बन की मात्र कम होने में मदद मिलती है, जिससे ओजोन लेयर भी सुरक्षित रहती है।
अमित शाह ने कहा कि कोयला क्षेत्र न केवल बढ़ते हुए घरेलू कोयले की मांग को पूरा करने के लिए तैयार है बल्कि पर्यावरणीय स्थिरता के लिए भी उतना ही संवेदनशील है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार विभिन्न कोयला क्षेत्रों में रिक्लेमेशन और वनीकरण को बढ़ावा दे रही है। प्रधानमंत्री ने खनिज क्षेत्रों में विकास की खाई को दूर करने तथा उनके विकास हेतु डिस्ट्रिक्ट मिनरल फण्ड का गठन किया है। इस फण्ड में अब तक 39 हजार करोड़ रुपये जमा हुए है, जिससे विकास के 35 हजार छोटे-छोटे प्रकल्प अब तक पूर्ण किये जा चुके है। अमित शाह ने कहा कि कोयला भारत की अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण स्तम्भ है और भविष्य में भी इसकी अहमियत बनीं रहेगी। कार्यक्रम में केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने भी अपने विचार रखे।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *