गुना में इलाज के अभाव में मरीज की मौत शिवराज सरकार के संवेदनाहीन होने का प्रतीक- श्रीनिवास

  
Last Updated:  Sunday, July 26, 2020  "06:20 am"

गुना : हाल ही में मध्य प्रदेश के गुना के सरकारी अस्पताल में सुनील धाकड़ नामक मरीज की इलाज के अभाव में मौत हो गई थी क्योंकि, उनके परिवार के पास अस्पताल की 5 रुपये की पर्ची कटाने के पैसे नहीं थे। सुनील की पत्नी और मासूम बच्चे 12 घंटे तक अस्पताल प्रबंधन से मरीज का इलाज करने की विनती करते रहे लेकिन अस्पताल प्रशासन का दिल नहीं पसीजा। राहुल गांधी के निर्देश पर युवा कांग्रेस के कार्यकताओं ने पीड़ित परिवार के घर पहुंच कर उसे आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई।
भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी राहुल राव व प्रवक्ता सुवेग राठी ने बताया कि युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने कहा है कि, ‘जानकारी मिलने पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के कार्यालय ने इस अमानवीय घटना का संज्ञान लिया और हमें पीड़ित परिवार की मदद के लिए निर्देशित किया। मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता पीड़ित परिवार के पास अशोकनगर पहुंचे और राहुल गांधी जी की ओर से उन्हें सांत्वना दी। परिवार के भरण पोषण के लिए आर्थिक मदद के साथ ही कुछ महीनों के लिए राशन सामग्री भी उपलब्ध कराई।

संवेदनहीन है शिवराज सरकार।

युवक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने कहा कि यह घटना शिवराज सरकार की संवेदनहीनता को उजागर करती है। उनके मुताबिक कोरोना महामारी के फैलने के पहले से ही राहुल गांधी लगातार सरकार को सचेत कर रहे थे लेकिन केंद्र की मोदी सरकार और मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार इस संकट और आपदा की घड़ी को भी अवसर की तरह देखकर लगातार भ्रष्टाचार में व्यस्त है। गुना के अस्पताल में हुई अमानवीय घटना बताती है कि जनता के दुःख परेशानी और कष्ट से शिवराज सिंह चौहान की सरकार का कोई लेना-देना नहीं है।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *