राजवाड़ा और आसपास का क्षेत्र खाली कराकर किया गया सील, भारी पुलिस बल तैनात..

  
Last Updated:  Sunday, August 30, 2020  "12:28 am"

इंदौर : रविवार को लॉकडाउन होने और सामूहिक रूप से सामाजिक, धार्मिक समारोहों पर प्रतिबंध के बावजूद मोहर्रम की 10 तारीख पर राजवाड़ा, इमामबाड़ा और यशवंत रोड, पंढरीनाथ क्षेत्र में बड़ी तादाद में लोग जमा हो गए। दोपहर से ही सरकारी ताजिये के दीदार के लिए शहर भर से लोग पहुंचने लगे थे बताया जाता है कि सोशल मीडिया पर सरकारी ताजिया निकलकर कर्बला पहुंचने की किसी ने अफवाह फैला दी थी। इस पर शहर भर की मुस्लिम बस्तियों से लोग राजवाड़ा क्षेत्र में पहुंचना शुरू हो गए। सैकड़ों महिला- पुरुषों ने तो कर्बला जाने वाले मार्ग पर डेरा जमा लिया था।

राजवाड़ा क्षेत्र खाली कराकर किया गया सील।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों तक इस बात की जानकारी पहुंचते ही उन्होंने तत्काल राजवाड़ा और आसपास के क्षेत्र को खाली कराने और बेरिकेटिंग कर वाहनों व लोगों की आवाजाही रोकने के निर्देश दिए।
इसके बाद एमजी रोड, सराफा, पंढरीनाथ और अन्य थानों की पुलिस सक्रिय हुई। आनन- फानन में राजवाड़ा क्षेत्र से लोगों को हटाकर समूचा क्षेत्र खाली कराया गया। ताबड़तोड़ राजवाड़ा और इमामबाड़ा की ओर जाने वाले तमाम रास्तों पर बेरिकेटिंग कर उसे सील कर दिया गया। यशवंत रोड, जवाहर मार्ग, मच्छी बाजार और पंढरीनाथ क्षेत्र में अवरोध खड़े कर वाहनों का आवागमन रोके जाने के साथ लोगों को घर जाने की समझाइश दी गई।

एसपी पश्चिम ने किया पैदल मार्च।

एसपी पश्चिम श्री महेंद्र जैन ने बाद में पुलिस बल के साथ राजवाड़ा, यशवंत रोड, जवाहर मार्ग, बम्बई बाजार, मुकेरीपुरा, दरगाह चौराहा आदि क्षेत्रों में पैदल मार्च किया। एडिशनल एसपी राजेश व्यास सीएससी पंढरीनाथ आशुतोष मिश्रा, पंढरीनाथ थाना प्रभारी राकेश मोदी, सराफा थाना प्रभारी अमृता सोलंकी और सर्व धर्म संघ के अध्यक्ष मंजूर बेग भी उनके साथ थे। एसपी श्री जैन ने लोगों को समझाइश दी कि वे अफवाहों पर ध्यान न दें। शहर में लॉक डाउन लगा हुआ है। मोहर्रम की 10 तारीख होने से सारी रस्में सरकारी ताजिया इमामबाड़े पर पूरी कर ली गई हैं। सरकारी ताजिया कर्बला मैदान नहीं जाएगा। सभी लोग घरों में ही रहें।
पुलिस ने इस आशय का अनाउंसमेंट भी पूरे क्षेत्र में करवाया।

भारी पुलिस बल तैनात।

राजवाड़ा क्षेत्र सहित आसपास के सभी इलाकों में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। किसी को भी उधर जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *