आचार्य दौलत सागरजी महाराज का 100 वे जन्मदिन पर ऑनलाइन शब्द सम्मान

  
Last Updated:  Tuesday, September 15, 2020  "10:53 pm"

इंदौर : जैन समाज के सबसे दीर्घायु , जिनशासन के तपोनिष्ठ आचार्य. दौलत सागर सूरीश्वर महाराज के जन्म शताब्दी दिवस पर नवकार परिवार द्वारा ऑनलाइन सम्मान समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान शहर एवं मालवांचल की 100 संस्थाओं की ओर से आचार्य दौलत सागर सूरीश्वर म.सा. का शब्दों से सम्मान किया जाएगा। समूचे कार्यक्रम को ‘गुरूवर गुण गुंजन‘ नाम दिया गया है।
नवकार परिवार इंदौर के महेंद्र गुरूजी एवं प्रवीण गुरूजी ने बताया कि आचार्य दौलत सागर सूरीश्वर महाराज जैन समाज के सबसे वयोवृद्ध तपस्वी संत हैं। इस आयु में भी वे पूर्णतः स्वस्थ, चैतन्य और ऊर्जावान आचार्य हैं। उनका दीक्षाकाल 81 वर्षों का है जो एक यशस्वी कीर्तिमान है। श्वेतांबर जैन साधु-साध्वी भगवंतों के सबसे बड़े समूह के आचार्य होने का गौरव भी उन्हे प्राप्त है। शहर की 100 संस्थाओं की ओर से उनके जीवन के 100 वें वर्ष में प्रवेश के मंगल प्रसंग पर ऑनलाइन बधाई देने का यह अनूठा आयोजन पहली बार हो रहा है। इसमें जिला प्रशासन की नियमावली के अनुरूप केवल ऑनलाइन संदेश ही लिए गए हैं। कार्यक्रम संयोजक डॉ. प्रकाश बांगानी, मनीष सुराना, ललित सी. जैन, जयसिंह जैन एवं शेखर गेलड़ा के मार्गदर्शन में अब तक अनेक संस्थाएं इस आयोजन में भागीदार बन चुकी हैं। इन सभी संस्थाओं के प्रतिनिधि आचार्यश्री के प्रति पहले ही आधे या एक मिनट का बधाई संदेश रिकार्ड कर के भेज चुके हैं। इनका जीवंत प्रसारण नवकार परिवार की फेसबुक एवं गूगल मीट पर किया जा रहा है।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *