दुष्कर्म का आरोपी डॉ. हेमंत चौपड़ा 14 अक्टूबर तक पुलिस रिमांड पर

  
Last Updated:  Tuesday, October 13, 2020  "01:57 am"

इंदौर : इलाज के दौरान युवती से दुष्‍कृत्‍य करने वाले आरोपी डॉक्‍टर हेमंत चौपड़ा को अदालत ने 3 दिन की रिमांड
पर पुलिस को सौंप दिया है।
जिला अभियोजन अधिकारी मो. अकरम शेख ने बताया कि विनीता गुप्‍ता न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी इंदौर के समक्ष थाना एमआईजी के अप.क्र.301/2020 धारा 354(क), 509, 376(2)(ड), 376(2)(एन) भादवि में फरार आरोपी हेमंत चौपडा को पेश किया गया था। एमआइजी पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तारी पश्‍चात पुलिस अभिरक्षा में दिए जाने का निवेदन किया था। पुलिस अभिरक्षा इस आधार पर चाही गई कि आरोपी से अपराध के संबंध में पूछताछ करना और पीडिता से इलाज के दौरान स्‍वयं हस्‍तलिखित पर्चे में लिखे प्रिसक्रिप्‍शन को जब्त कर हस्‍तलिपि विशेषज्ञ से जांच कराई जाना है। इसी के साथ घटना स्‍थल की तस्‍दीक व साक्ष्‍य भी एकत्रित करना है। अभियोजन की ओर से एडीपीओ शिवभान सिंह द्वारा तर्क रखे गए। न्‍यायालय ने तर्को से सहमत होते हुए आरोपी को 14 अक्टूबर तक पुलिस अभिरक्षा में सौंपे जाने का आदेश दिया।

अभियोजन की कहानी संक्षेप में इस प्रकार है कि फरियादिया ने अपने माता-पिता व दीदी के साथ थाने आकर रिपोर्ट लिखाई थी कि 02.07.2020 को सुबह करीबन 7 बजे मैं अपने पापा के साथ एक्टिवा से दूध लेने गई थी एक्टिवा से गिरने से मेरे दाएं पैर के पंजे में चोट आयी थी। उसी दिन शाम करीबन 06:30 बजे मेरे पापा मुझे हेमंत चौपडा की क्लीनिक पर पैर का उपचार कराने के लिए लेकर गए। डॉ. हेमंत चौपडा ने मेरे पापा को क्लीनिक से बाहर कर दिया व अंदर से दरवाजा बंद कर दिया। फिर डॉ. ने मेरे पैर को देखा और उस पर दवाई डाली। जिससे मेरे पैर पर जलन पडने लगी। मैं चिल्‍लाई तो डॉ. हेमंत चौपडा ने मुझे कस के पकड लिया और मेरे चेहरे पर बुरी नीयत से किस करने लगा तो मैने डॉ. से बोला कि आप यह क्‍या कर रहे हो। तो डॉक्‍टर बोला कि घबराने की जरूरत नही है मैं तुम्‍हे चेक कर रहा हूं इसके बाद डॉक्‍टर ने अपनी पेंट खोली व मेरे साथ गंदी हरकत करने लगा। डाक्‍टर की इस हरकत पर मैं चिल्‍लाई लेकिन क्लीनिक के बाहर मेरी आवाज नही जा रही थी जब मैं चुप हो गई तो डॉक्‍टर ने मेरे पापा को अंदर बुला लिया। मैं बहुत डर गई थी और मुझे चक्‍कर आने लगे थे। डॉक्‍टर ने तीन दिन बाद फिर चेकअप के लिए अपने पर मुझे बुलाया। मैं डर के कारण अपने पापा को यह बात नही बता पायी। तीन दिन बाद जब मैं डाक्‍टर के पास गयी तो डॉक्‍टर ने फिर से मेरे पापा को क्लीनिक के बाहर कर दिया और मेरे साथ गंदी हरकत करने लगा। में घबराहट के मारे उस दिन भी पापा को कुछ नही बता पायी। दिनांक 07.07.2020 को दीदी के साथ करीबन 06:30 बजे क्लीनिक गई थी डॉक्‍टर ने दीदी को क्लीनिक से बाहर कर दिया और मेरे साथ गंदी हरकत करने लगा मैंने डॉक्‍टर की इस घिनौनी हरकत को घरवालों को बताने के लिए मोबाइल से वीडियो कैमरा ऑन कर दिया। डॉक्‍टर हेमंत ने उस दिन भी मेरे साथ गंदी हरकत की। वहां से जाने के बाद रास्‍ते में मैंने यह बात अपनी दीदी को बताई। आज मैं अपने पापा, मम्‍मी व दीदी के साथ थाने रिपोर्ट करवाने आयी हूं। कार्रवाई की जाएं। उक्‍त रिपोर्ट पर से आरोपी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *