इंटर नेशनल कार्गो प्रारम्भ करने के लिए उठाएं जरूरी कदम- लालवानी

  
Last Updated:  Sunday, July 5, 2020  "06:24 am"

इंदौर : शहर और आसपास के औद्योगिक क्षेत्रों में कई ऐसे उत्‍पाद बनते हैं जिन्‍हें एक्‍सपोर्ट किया जाता है। साथ ही केंद्र सरकार की किसानों के लिए एक्‍सपोर्ट की कई योजनाएं है जिससे उनकी आय बढ़ सकती है, लेकिन इन सबके लिए डायरेक्‍ट इंटरनेशनल कार्गो फ्लाइट होना जरुरी है। इस बात के मद्देनजर सांसद लालवानी ने इंदौर के कार्गो टर्मिनल का दौरा किया और यहां से जल्‍द ही इंटरनेशनल कार्गो शुरू करने के लिए आवश्‍यक कदम उठाने को अधिकारियों से कहा। वर्तमान में डॉमेस्टिक कार्गो की सुविधा चल रही है और इसकी मासिक क्षमता करीब 500 टन प्रति माह है। अंतरराष्ट्रीय कार्गो के लिए 5000 टन क्षमता का गोडाउन तैयार किया जा चुका है। इस क्षमता को बढ़ाने के लिए गोडाउन का विस्तार किया जा रहा है।
सांसद ने बता‍या कि प्रधानमंत्री की ‘आत्‍मनिर्भर भारत’ की संकल्‍पना के अनुरुप इंदौर से एक्‍सपोर्ट बढ़ाने के प्रयास लगातार जारी है। इसी कड़ी में इंदौर एयरपोर्ट से इंटरनेशनल कार्गो शुरू होने पर इस क्षेत्र में खुशहाली और समृद्धि बढ़ेगी।इससे किसानों और एक्‍सपोर्ट ओरिएंटेड यूनिट्स को बहुत फायदा होगा।

सांसद ने कहा कि देवी अहिल्या होलकर एयरपोर्ट को कृषि पदार्थों, फ्रूट्स एंड वेजिटेबल्स के साथ-साथ अन्य सामान के एयर शिपमेंट के लिए तैयार किया जा रहा है। यहां 75 लाख रुपए की कार्गो एक्स रे मशीन आ चुकी है जिसका इंस्टॉलेशन चल रहा है। साथ ही एयरपोर्ट के पुराने भवन का उपयोग नवीनीकरण करके एयर कार्गो में उपयोग करने हेतु कार्य प्रगति पर है।

वर्तमान में जल्‍दी खराब होने वालो पदार्थ जैसे सब्जी, फ्रूट्स इत्यादि के लिए छोटा कोल्ड स्टोरेज प्रारंभ किया जा चुका है और बड़े कोल्ड स्टोरेज का निर्माण कार्य प्रगति पर है, जो जुलाई अंत तक पूर्ण हो जाएगा। एयर कार्गो के लिए कस्टम विभाग का ऑफिस प्रारंभ हो गया है। साथ ही स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया का अकाउंट भी खुल गया है जहां कस्टम ड्यूटी का भुगतान किया जा सकता है।

एयरपोर्ट पर सोना,चांदी,हीरे,जवाहरात एवं ज्वेलरी के लिए वॉल्‍ट बन चुका है जहां इंपोर्ट और एक्सपोर्ट के लिए बहुमूल्य वस्तुएं रखी जा सकती है।
सांसद लालवानी ने किसानों की फसलें, फल एवं सब्जियों को सीधे कार्गो भवन तक पहुंचाने के लिए सड़क एवं स्ट्रीट लाइट जल्‍द पूरा करने के लिए कहा है। साथ ही कार्गो एयरपोर्ट पर सुरक्षा की मजबूत करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिए थे जिसके बाद यहां सीआईएसएफ की टुकड़ी तैनात की गई है। जब पूर्ण क्षमता के साथ टर्मिनल कार्य करने लगेगा तो सुरक्षा और बढ़ाई जाएगी।
एयरपोर्ट के कार्गो टर्मिनल पर इंपोर्ट और एक्सपोर्ट करने वाले लोगों के लिए कार्गो मैनेजमेंट एवं कस्टम के द्वारा किसी भी प्रकार की जानकारी प्रदान करने के लिए स्टाफ भी मौजूद है। सांसद लालवानी ने बताया कि जैसे ही शासन द्वारा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की स्वीकृति प्रदान की जाएगी, इंदौर से स्पाइसजेट, इंडिगो,,एयर सहारा, एयर इंडिया एवं अन्य उड़ानों के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय बाजार में सीधा माल पहुंचाने की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी।

सांसद लालवानी के कार्गो एयरपोर्ट पर दौरे के दौरान इंदौर एयरपोर्ट डायरेक्‍टर अर्यमा सान्‍याल, कार्गो प्रबंधक आरसी डबास, कस्‍टम विभाग के असिस्‍टेंट कमिश्‍नर अरुण घाणेकर एवं अन्‍य अधिकारी मौजूद थे।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *