15 फरवरी से प्रारंभ होगा ग्वालियर मेला, 50 फीसदी टैक्स में मिलेगी छूट

  
Last Updated:  Wednesday, February 10, 2021  "05:33 am"

ग्वालियर : कोरोना का संकट झेल चुके हजारों कारोबारियों के लिए सात फरवरी को मुख्यमंत्री का ग्वालियर आगमन शुभ समाचार लेकर आया। मेला न आयोजित होने की आशंका के चलते जिन व्यापारियों के चेहरे पर मायूसी थी, वे अब खुशी से खिल उठे हैं। सीएम ने मेला कार्यालय का शुभारंभ करने के साथ 15 फरवरी से मेला शुरू करने की घोषणा कर दी है। मेले से खरीदे जाने वाले वाहनों को बीते दो साल की तरह इस साल भी 50 फीसदी छूट दिए जाने की घोषणा भी सीएम शिवराज ने की है। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, सांसद विवेक नारायण शेजवलकर, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, सूक्ष्म, एमएसएमई मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा, भारत सिंह कुशवाह, ओपीएस भदौरिया, पूर्व मंत्री इमरती देवी, कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, मेला प्राधिकरण के सचिव एसएम श्रीवास्तव, मेला व्यापारी संघ के अध्यक्ष महेंद्र भदकारिया, चैंबर के मानसेवी सचिव प्रवीण अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

सिंधिया से बोले शिवराज- आप छूट क्या कुछ और भी मांगो तो दूंगा।

इस दौरान आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि व्यापार मेला ग्वालियर की अद्भुत पहचान है। कैलाशवासी माधवराव सिंधिया ने वर्ष 1905 में मेला शुरू किया था। तब से अनवरत मेले का स्वरूप भव्य होता चला आ रहा है। हमारा संकल्प है कि ग्वालियर की पहचान इस मेले को और कामयाब बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।कोराना की मजबूरी थी, हम थोड़ा असमंजस में थे कि जनता को तकलीफ न हो जाए। शिवराज ने अधिकारियों से कहा कि मेले को और भी भव्य स्वरूप देने के लिए सभी उपाय किए जाएं। आरटीओ छूट को लेकर शिवराज ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की ओर देखकर कहा- आप छूट क्या कुछ और भी मांगो तो उसे पूरा करेंगे।

परिवहन मंत्री ने बताया खर्च, सिंधिया बोले- आय भी बढ़ती है।

राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि ग्वालियर का मेला 100 साल से अधिक वर्षों से लग रहा है। इस मेले की पूरे देश में अलग छवि व पहचान है। परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने अपने उद्बोधन में कहा था कि आरटीओ छूट के कारण राजस्व की हानि भी होती है। इस वाक्य को केंद्र में रखते हुए सिंधिया ने अपने उदबोधन में कहा कि खर्चा होता है, मगर आय भी बढ़ती है। छूट मिलने से मेला 100 करोड़ से 800 करोड़ के व्यापार पर पहुंच गया है।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *