किसानों के साथ चर्चा के दरवाजे हमेशा खुले, राहुल गांधी बन गए हैं मजाक का विषय- विजयवर्गीय

  
Last Updated:  Sunday, February 14, 2021  "05:31 am"

इंदौर : किसानों से चर्चा के लिए सरकार के दरवाजे हमेशा खुले हैं। राहुल गांधी भारतीय राजनीति में मजाक का विषय बन गए हैं। उन्हें कोई सीरियसली नहीं लेता। संजय शुक्ला के खिलाफ उन्हें महापौर का चुनाव लड़ने की चुनौती देनेवाले सज्जन सिंह वर्मा खिसक गए हैं। बीजेपी में ऊपर से नीचे तक हर स्तर पर प्रशिक्षण की व्यवस्था है। बंगाल में बीजेपी दो सौ से अधिक सीटें जीतकर सरकार बनाएगी। ये कहना है बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का। पत्रकारों से चर्चा के दौरान उनके सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने ये बात कही।

किसानों से बातचीत के दरवाजे खुले हैं।

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि किसानों की मांगें क्या हैं, यही कोई समझ नहीं पाया है। अब तक किसान संगठनों से 12 दौर की बातचीत हो चुकी है। सरकार के दरवाजे उनसे बातचीत के लिए हमेशा खुले हैं। किसान जब चाहें सरकार उनसे बात करने को तैयार है।

राहुल गांधी मजाक का विषय।

राहुल गांधी के किसान आंदोलन के समर्थन में ट्रेक्टर चलाने को लेकर पूछे गए सवाल पर कैलाश विजयवर्गीय ने व्यंगात्मक लहजे में कहा कि राहुल गांधी मजाक का विषय बनकर रह गए हैं। कोई उन्हें सीरियसली नहीं लेता।

बीजेपी में हर स्तर पर प्रशिक्षण की व्यवस्था।

विधायकों के प्रशिक्षण वर्ग को लेकर पूछे गए सवाल पर विजयवर्गीय का कहना था कि बीजेपी कैडर बेस पार्टी है। बूथ स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक उसमें प्रशिक्षण की व्यवस्था है। उसकी अपनी विचारधारा है, इसीलिए अन्य राजनीतिक दलों से वह अलग है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस से बीजेपी आए विधायकों के लिए यह प्रशिक्षण वर्ग एक अनूठा अनुभव था।

बंगाल में बीजेपी को मिलेगा पूर्ण बहुमत।

पश्चिम बंगाल में निकट भविष्य में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर किए गए सवाल के जवाब में कैलाश विजयवर्गीय का कहना था कि बीजेपी बंगाल में 210 सीटें जीतकर सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा वंदे मातरम के नारे ने अंग्रेजों को भारत छोड़ने पर विवश कर दिया था, अब जय श्रीराम का नारा ममता बनर्जी को सत्ता से बेदखल करेगा। विजयवर्गीय ने टीएमसी से बीजेपी में आ रहे नेता व कार्यकर्ताओं की वजह से स्थानीय बीजेपी नेताओं में किसी तरह की नाराजगी से इनकार किया।

पेट्रोल- डीजल के बढ़ते दाम छोटा मुद्दा।

कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया कि किसान आंदोलन व पेट्रोल- डीजल के बढ़ते दाम नगरीय निकाय चुनाव में बीजेपी की संभावनाओं पर कोई विपरीत असर नहीं डालेंगे। मप्र व इंदौर में विकास के काम किसने किए हैं, यह जनता जानती है।

खिसक गए हैं सज्जन सिंह वर्मा।

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कांग्रेस के महापौर प्रत्याशी संजय शुक्ला के खिलाफ़ चुनाव लड़ने की चुनौती कैलाश विजयवर्गीय को दी थी। इसको लेकर किए गए सवाल पर विजयवर्गीय ने सज्जन वर्मा का नाम लिए बिना कहा कि वे खिसक गए हैं।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *