15 माह की सरकार में हमने प्रदेश को विकास के पथ पर ले जाने का प्रयास किया- कमलनाथ

  
Last Updated:  Sunday, February 21, 2021  "06:13 pm"

इंदौर : मुझे 15 माह की सरकार में काम करने के लिए सिर्फ़ साढ़े 11 माह मिले लेकिन मैंने इस दौरान किसी भी कांग्रेसजन का सर झुकने नहीं दिया। कांग्रेस जन छाती ठोक कर कह सकते हैं कि हमारी सरकार ने प्रदेश को विकास के पथ पर आगे ले जाने का काम किया ,प्रदेश की दशा दिशा बदलने का काम किया।मैंने जब माफियाओं के खिलाफ अभियान शुरू किया तो मुझे कई लोगों ने रोका टोका लेकिन मैंने कहा कमलनाथ को कोई डरा,दबा, पटा नहीं सकता है। ये बात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने कही।वे रविवार को इंदौर में रेसकोर्स रोड स्थित बास्केटबॉल स्टेडियम में आयोजित संभागीय कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि आप सब कांग्रेस कि रीती-नीतियों ,सिद्धांतों में विश्वास करते हैं इसीलिए यहां आए हैं।

कांग्रेस की नीति दिलों को जोड़ने की है।

कमलनाथ ने कहा कि जिन लोगों का अपनी पार्टी की रीति-नीति ,निष्ठा व सिद्धांत में भरोसा नहीं होता वह अपनी पार्टी से बेईमानी करते हैं।कांग्रेस पार्टी की नीति दिलों को जोड़ने की है।हमारे देश में कई धर्म,जातियां हैं। अनेकता है, लेकिन हमारे देश की संस्कृति सभी को जोड़ने की है और यही कांग्रेस की भी संस्कृति है।

बीजेपी के पास बूथ पर बैठने वाले लोग नहीं होते थे।

कमलनाथ ने कहा कि समय बेहद परिवर्तनशील है ,मुझे वह समय भी याद है जब भाजपा को बूथ पर बैठने वाले लोग नहीं मिलते थे।जो जीतता था वह कांग्रेस का था और जो हार जाता था भाजपा उसे अपना बना लेती थी।आज हमारा मुक़ाबला भाजपा के संगठन व झूठ से है।शिवराज जी झूठ नहीं बोले तो उनका दिन शुरू नहीं होता है।अब समय परिवर्तित हो चुका है ,एक नेता पूरे क्षेत्र की जवाबदारी नहीं ले सकता। जिसका जनता से सीधा जुड़ाव है ,वही सच्चा जनसेवक होता है।

27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया।

आप सब गवाह हैं कि हमने 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया। पहली बार इतिहास में डिफाल्टर ही नहीं बल्कि चालू खाते वालों का भी कर्ज माफ किया। क्या मैंने ऐसा कर कोई पाप- गुनाह किया ? पहले प्रदेश की पहचान माफ़िया से होती थी ,मैंने उस पहचान को बदलने का काम किया ,क्या मैंने कोई गुनाह किया ?

नए कृषि कानून किसानों को बर्बाद कर देंगे।

कमलनाथ ने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था 70% कृषि क्षेत्र पर आधारित है ,कृषि क्षेत्र ही हर व्यक्ति की प्रगति का आधार है।हमने इस क्षेत्र में कई क्रांतिकारी निर्णय लिए। मोदी सरकार तीन काले कानून लाई है ,यह किसानों और कृषि क्षेत्र को बर्बाद कर देंगे।यह काले कानून कृषि क्षेत्र का निजीकरण करेंगे।पहले हमारे देश में उपज का आयात होता था लेकिन आज हम निर्यात करते हैं ,यह सब कांग्रेस की सरकारों के द्वारा लिए गए क्रांतिकारी निर्णयों से संभव हो सका है।
स्व.इंदिरा गांधी जी ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया ,कोयला खदानों का राष्ट्रीयकरण किया ,बीमा क्षेत्र का राष्ट्रीयकरण किया और सबसे महत्वपूर्ण कृषि क्षेत्र का राष्ट्रीयकरण किया।उसके बाद से ही किसानों को एमएसपी मिलना शुरू हुई।

मप्र में 15-20 फीसदी किसानों को ही मिलता है एमएसपी का लाभ।

कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश में 15 से 20% लोगों को ही एमएसपी का फायदा मिलता है।आज भी मध्य प्रदेश के किसान गुजारे की खेती करते हैं।
इन काले कानूनों से निजी लोगों को मंडी का दर्जा मिलेगा।एमएसपी खत्म होगी ,जमाखोरी -कालाबाजारी को बढ़ावा मिलेगा ,कांटेक्ट फ़ार्मिंग से किसान ठगा जाएगा।

बन्द हो रहें उद्योग- धंधे।

नाथ ने कहा कि किसान और युवा भटक रहे हैं। यही लोग देश -प्रदेश का नवनिर्माण करते हैं। लोगों को भाजपा सरकार पर विश्वास नहीं है।प्रदेश में जितने उद्योग लगते नहीं ,उतने बंद हो जाते हैं।निवेश को लेकर इन्होंने कितने बड़े-बड़े दावे किए ,इंदौर में कई इन्वेस्टर समिट की लेकिन सच्चाई आप सब लोग जानते हैं।

दो करोड़ रोजगार का वादा झूठा।

कमलनाथ ने कहा कि चुनाव के पूर्व वे किसानों की आय दोगुनी करने, खेती को लाभ का धंधा बनाने और दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात करते थे लेकिन आज यह सब बात नहीं करते। अब यह पाकिस्तान और राष्ट्रवाद की बात करते हैं।मै भाजपा को खुली चुनौती देता हूं कि भाजपा के एक भी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी का नाम बताएं ,जिसने आजादी की लड़ाई में हिस्सा लिया हो।

ध्यान बंटाने में माहिर है बीजेपी।

कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी ध्यान मोड़ने में माहिर है। पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ती है तो वह ध्यान मोड़ने के लिए चंदा लेना शुरू कर देती है।
सीएम शिवराज कहते हैं कि मैं किसान का बेटा हूं जबकि सबसे ज्यादा किसान मध्यप्रदेश में आत्महत्या करते हैं। वे कहते हैं कि मैं मामा हूं और सबसे ज्यादा महिलाओं पर अत्याचार इनकी सरकार में ही होता है।
मैं पुलिस व अधिकारियों को कहना चाहता हूं कि वो अपनी वर्दी की इज्जत करें ,भाजपा की नहीं।कांग्रेस का इतिहास संघर्ष का रहा है ,कांग्रेस संघर्ष करने वाली पार्टी है।कांग्रेस डरने वाली पार्टी नहीं है।
यहाँ उपस्थित आप सभी लोगों ने यदि ठान लिया तो मध्यप्रदेश में वापस कांग्रेस का झंडा लहराने से कोई नहीं रोक सकता है।

सम्मेलन को प्रदेश के प्रभारी सचिव कुलदीप इंदौरा ,पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ ,पूर्व मंत्री बाला बच्चन ,जीतू पटवारी ,विक्रांत भूरिया ,विशाल पटेल ,अजय रघुवंशी , फ़ौज़िया शेख़ अलीम आदि ने भी संबोधित किया।
मंच पर पूर्व मंत्री सज्जन वर्मा ,पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ,चंद्रप्रभाष शेखर, कृपाशंकर शुक्ला, हनी बघेल ,नरेंद्र सलूजा ,सचिन यादव ,अश्विन जोशी , के.के.मिश्रा आदि उपस्थित थे।
स्वागत भाषण शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने दिया और आभार ज़िला अध्यक्ष सदाशिव यादव ने माना।

मंच पर पहली बार दिखी संजय गांधी की तस्वीर।

कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में मंच पर कमलनाथ की कुर्सी के ठीक पीछे लगाई गई स्क्रीन पर इंदिराजी और राजीव गांधी के साथ संजय गांधी की तस्वीर ने सभी का ध्यान आकर्षित किया, हालांकि बाद में यह स्लाइड हटा ली गई।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *