45 वर्ष से अधिक आयु के मंडी व्यापारी और कर्मचारियों का टीकाकरण 1 अप्रैल से।

  
Last Updated:  Wednesday, March 31, 2021  "03:34 pm"

इंदौर : कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ प्रदेश में युद्ध स्तर पर चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण गुरूवार एक अप्रैल से प्रारम्भ किया जा रहा है। इस चरण में ऐसे व्यक्ति जिनकी उम्र 45 वर्ष या उससे अधिक है, उनको कोविड-19 वैक्सीन का पहला डोज दिया जाएगा। इंदौर जिले में इस वर्ग के शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण कराया जा सकें इस उद्देश्य से कलेक्टर मनीष सिंह मंगलवार सुबह चोइथराम एवं छावनी अनाज मण्डी पहुंचे। यहां उन्होंने 45 वर्ष से अधिक आयु के समस्त कर्मचारियों एवं व्यापारियों को कोविड का टीक लगवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इंदौर की चोइथराम एवं छावनी स्थित मण्डी में एक अप्रैल से वैक्सीनेशन केन्द्र आरंभ किए जा रहे हैं। इन केन्द्रों में मण्डी में कार्यरत 45 वर्ष या उससे अधिक आयु वाले कर्मचारी एवं व्यापारी तथा उनके परिवारजन कोविड वैक्सीन लगवा सकते हैं। उन्होंन कहा कि मण्डी में आने वाली लोगों की भीड़ को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिये मण्डी में कार्यरत व्यक्तियों का वैक्सीनेशन अति आवश्यक है।
कलेक्टर श्री सिंह ने मण्डी सचिव को सख्त निर्देश दिए हैं कि उक्त वर्ग के शत-प्रतिशत कर्मचारियों एवं व्यापारियों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि तीसरा चरण प्रारंभ होने के 7 दिन बाद समीक्षा की जायेगी, जिसमें यदि 45 वर्ष से अधिक आयु वाला कोई कर्मचारी अथवा व्यापारी कोविड का टीका नहीं लगवाया पाया गया, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी तथा संबंधित व्यापारी की दुकान सील कर दी जाएगी।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *