कार्बन क्रेडिट बेचकर मप्र में जंगल विकसित करेगा राज्य वन विकास निगम

  
Last Updated:  Thursday, January 13, 2022  "01:37 am"

इंदौर : गुरुवार को इंदौर प्रवास पर आए वनमंत्री विजय शाह ने नवरतन बाग स्थित वन विभाग के परिसर में स्थापित मप्र राज्य वन विकास निगम के क्षेत्रीय मुख्य महाप्रबन्धक के दफ्तर का फीता काटकर शुभारंभ किया। उन्होंने शिलालेख के अनावरण के साथ पूजन में भी शिरकत की। वन विभाग और वन विकास निगम के तमाम वरिष्ठ अधिकारी इस दौरान मौजूद रहे।

काटे गए पेड़ों के एवज में लगाते हैं नए जंगल।

वन मंत्री विजय शाह जो मप्र राज्य वन विकास निगम के चेयरमैन भी हैं, ने इस मौके पर पत्रकारों से भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि औद्योगिकरण, कोयला खदानें, राजमार्गों का निर्माण सहित अन्य विकास कार्यों के लिए जो जंगल काटे जाते हैं, उनके ऐवज में आधुनिक तरीकों से नए जंगल विकसित करने का काम मप्र राज्य वन विकास निगम करता है। उन्होंने कहा कि इंदौर में खोले गए वन विकास निगम के इस क्षेत्रीय मुख्य महाप्रबन्धक कार्यालय के जरिए खरगौन, बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ जैसे मालवा- निमाड़ के जिलों में पुनः जंगल विकसित करने के साथ 5 वर्षों तक उनकी निगरानी भी की जाएगी।

वन विकास निगम की सफलता का रेशो 80 फीसदी।

वन मंत्री विजय शाह ने कहा कि मप्र राज्य वन विकास निगम नए पेड़- पौधे लगाने के साथ उनकी 5 साल तक निगरानी व देखभाल करता है। इसमें सेटेलाइट की मदद लेने के साथ अधिकारियों की जवाबदेही भी तय की जाती है।यही कारण है कि निगम की सफलता का रेशों इस मामले में 80 फीसदी तक है। वनमंत्री शाह के मुताबिक वन विकास निगम बिहार, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के साथ एनएचएआई और अन्य केंद्रीय एजेंसियों के प्रोजेक्ट पर भी काम कर रहा है।

कार्बन क्रेडिट बेचकर मप्र को हराभरा करेंगे।

वन मंत्री शाह ने कहा कि समुद्र तटीय राज्य गोआ और केंद्रशासित प्रदेश अंडमान के प्रशासन से भी वन विकास निगम की बात चल रही है। उन्हें उद्योग लगाने के लिए कार्बन क्रेडिट की जरूरत होती है। समुद्र तटीय इलाका होने से उनके पास जंगल विकसित करने के लिए पर्याप्त जमीन नहीं है, अतः उनसे पैसा लेकर वन विकास निगम मप्र के आदिवासी बहुल झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी जैसे क्षेत्रों में जंगल विकसित करेगा। बदले में उन्हें कार्बन क्रेडिट दिया जाएगा ताकि वे अपने यहां उद्योग लगा सकें।

विदेशों को भी बेचेंगे कार्बन क्रेडिट।

वन मंत्री विजय शाह ने दावा किया कि मप्र राज्य वन विकास निगम भविष्य में विदेशों को भी कार्बन क्रेडिट बेचकर पैसा कमाएगा और मप्र में हरियाली विकसित करेगा।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *