बाढ़ पीड़ितों की सुध नहीं ले रही कमलनाथ सरकार- राकेश सिंह

  
Last Updated:  Monday, September 16, 2019  "06:17 pm"

इंदौर : मप्र का अधिकांश इलाका बाढ़ की चपेट में है। कई गांव और शहर डूब में आ गए हैं। किसानों की फसलें चौपट हो गई हैं। लोग परेशान हैं पर कमलनाथ सरकार कुम्भकर्णी नींद सोई हुई है। बीजेपी ने प्रदेशभर में इस सरकार को जगाने के लिए घंटानाद आंदोलन भी किया पर इसके कानों पर जूं नहीं रेंगी। यह सरकार सिर्फ तबादला उद्योग चला रही है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने यह बात कही। वे सोमवार को पत्रकार वार्ता के जरिये मीडियाकर्मियों से चर्चा कर रहे थे। सेवा सप्ताह में शिरकत करने आए राकेश सिंह ने कमलनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए आगे कहा कि न तो सीएम और न ही उनकी कैबिनेट का कोई मंत्री बाढ़ पीड़ितों की सुध लेने गए हैं। वे वल्लभ भवन के एसी कमरों में बैठे रहते हैं। जनता के दुखदर्द से उनका कोई वास्ता नहीं है।

बाढ़ पीड़ितों की पहली जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की।

केंद्र सरकार से मप्र को धनराशि नहीं दिए जाने के कांग्रेस के आरोप पर पलटवार करते हुए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश के विकास और बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाने की प्राथमिक जिम्मेदारी कमलनाथ सरकार की है। उसे पीड़ितों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। केंद्र सरकार भी हरसंभव सहायता करेगी।

बीजेपी सरकार के कार्यों का श्रेय ले रहे कमलनाथ।

राकेश सिंह ने मेट्रो प्रोजेक्ट का श्रेय सीएम कमलनाथ के लेने पर तंज कसते हुए कहा कि दुनिया जानती है कि प्रदेश में मेट्रो कौन लाया। बीजेपी (शिवराज) सरकार के विकास कार्यों का श्रेय लेने का प्रयास सीएम कमलनाथ कर रहे हैं।

अपने ही बोझ से गिरेगी सरकार।

राकेश सिंह ने एक सवाल के जवाब में कहा कि कांग्रेस में जिसतरह सिरफुटौव्वल का माहौल है, उसे देखते हुए कमलनाथ सरकार अपने ही बोझ से गिर जाएगी। बीजेपी को कुछ करने की जरूरत नहीं है।

भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत है

देश में छाई आर्थिक सुस्ती को लेकर सांसद राकेश सिंह का कहना था कि यह बदलाव का दौर है। मोदी सरकार अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिए कई कदम उठा रही है जिसके अच्छे परिणाम आगे देखने को मिलेंगे। शुरुआत में ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचना ठीक नहीं है। भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत थी, है और रहेगी। पीएम मोदी ने देश की इकोनॉमी को लेकर जो लक्ष्य तय किया है, हम उस तक जरूर पहुंचेंगे।

सिंधियाजी से मुलाकात होती रहती है।

पत्रकार वार्ता के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने तमाम मीडियाकर्मियों के साथ भोज किया। भोजन की टेबल पर भी अनौपचारिक चर्चा का दौर चलता रहा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया से जुड़े सवाल पर राकेश सिंह ने यह तो माना कि उनसे मेल मुलाकात होती रहती है। पर क्या बात होती है इसका जवाब ये कहकर टाल गए कि राजनीतिक बातें नहीं होती।

इंदौर खंडपीठ में नए जिले जोड़ने के मामले से पल्ला झाड़ा।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह जबलपुर से सांसद हैं। वहीं मप्र हाइकोर्ट का मुख्यालय है। हाल ही में जबलपुर हाइकोर्ट से जुड़े कुछ जिले हाइकोर्ट की इंदौर खंडपीठ से जोड़ने की चर्चा सरगर्म रही। इस बात को लेकर घमासान शुरू हो गया था। जबलपुर का सांसद होने के नाते इसपर राकेश सिंह की राय जाननी चाही तो उन्होंने पल्ला झाड़ लिया। उनका कहना था कि यह राजनीतिक नहीं वकीलों के बीच का मामला है। इस बारे में वे कुछ नहीं कहेंगे।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह की मीडियाकर्मियों के साथ चर्चा के दौरान वरिष्ठ नेता कृष्णमुरारी मोघे, शहर अध्यक्ष गोपी नेमा, महापौर मालिनी गौड़, संगठन के पदाधिकारी और अन्य नेता मौजूद रहे।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *