Category Archives: मेरे विचार

सुशांत, सिद्धार्थ और सत्य का साक्षात्कार…

Last Updated:  Wednesday, September 22, 2021  6:53 pm

कोरोना त्रासदी ने जीवन को अनेक अकल्पनीय स्मृतियाँ प्रदान की हैं जो सदैव मन मस्तिष्क में जीवंत रहेंगी। इन्हीं अकल्पनीय स्मृतियों में सुशांत और सिद्धार्थ जैसे अनमोल युवा प्रतिभाकारों का खोना भी है, जिन्होने स्वयं के प्रयत्नों से एक नई ऊंचाई का मुकाम हासिल किया, परंतु जीवन के सत्य को कोई भी झुठला नहीं सकता। दौलत, शोहरत, काया और पहुँच कुछ भी मृत्यु की नियति में हस्तक्षेप नहीं कर सकती। जीवन का सबसे कड़वा सच मृत्यु है। हमारा सम्पूर्ण जीवन और पढ़े

त्योहारों से बढ़ाएं जीवन की आध्यात्मिक पूंजी

Last Updated:  Tuesday, September 14, 2021  4:22 am

कोरोना त्रासदी ने जीवन के सत्य पक्ष को उजागर किया है कि शरीर नश्वर है और केवल ईश्वर ही परम सत्य है। हम दुनियादारी की उलझनों में अंतर्रात्मा से मिलन के क्षण को महत्व नहीं देते। स्थितियों और परिस्थितियों से जुझते-जुझते हम स्वयं ही नष्ट हो जाते हैं। तेरा-मेरा, इसका-उसका और अपना-पराया, इन सभी व्यर्थ चिंतन में जीवन के अमूल्य आनंद के क्षणों का क्षय कर देते हैं। हमारी मनोकामनाओं, अभिलाषाओं और इच्छाओं का कभी अंत नहीं होता। एक इच्छा और पढ़े

जल प्रबंधन में भी इंदौर को नम्बर वन बनाएंगे, 63 वे स्थापना दिवस पर अभ्यास मण्डल ने लिया संकल्प

Last Updated:  Monday, September 13, 2021  7:17 pm

कीर्ति राणा इंदौर : अभ्यास मंडल ने अपना 63 वां स्थापना दिवस शहर के प्रबुद्धजनों के साथ 63 दीप प्रज्जवलित कर मनाया।सांसद शंकर लालवानी की मौजूदगी में जब अभ्यास मंडल ने 63 वें साल में जल प्रबंधन की दिशा में काम करने और शहरवासियों की भागीदारी से इंदौर को इस क्षेत्र में भी नंबर वन का खिताब दिलाने का संकल्प लिया तो सांसद ने भी विश्वास दिलाया कि इस काम में संबंधित विभाग के अधिकारियों से आपसी सहमति बनवाने के और पढ़े

आज वक्त के साथ- साथ मेरे पांव हैं..

Last Updated:  Saturday, September 11, 2021  8:19 pm

‘वक़्त और मैं’ आज और कल में मेरा सब बीत गयाजो कभी पीछे मुझसे थावो भी मुझसे जीत गया। हार का दंश मुझे अंदर से निचोड़ रहा थामेरे सपनों का महल फिर भी आगे खड़ा था। एक पल को सोचा हार मान लूँपर जब गुज़रे रास्ते की दूरी देखीतो लगा कि ख़ुद में थोड़ी और जान डाल दूँ। फिर शुरू किया है मैंने सफ़र एक और बारइस बार मंज़िल ख़ुद कर रही है मेरा इंतज़ार। वक़्त के इम्तिहान भी क्या और पढ़े

सरे राह चलते मिल गया था, गुरुदेव कहने वाला..

Last Updated:  Tuesday, September 7, 2021  11:24 pm

स्मृति शेष : योगेश देवले 🔻कीर्ति राणा । मेरा योगेश देवले से सरे राह परिचय हुआ था, उन दिनों मैं उज्जैन पदस्थ था। एक दोपहर स्कूटर से कोठी रोड की तरफ जा रहा था। एक हाथ से गाड़ी का हैंडल थाम रखा था, दूसरे हाथ में नमक लगा जाम (अमरुद) था। गाड़ी की स्पीड कम ही थी। उसी रास्ते पर सड़क किनारे खरामा खरामा घुंघराले बाल, बोलती सी आंखों वाला युवक जा रहा था। उसने तो कहा नहीं, मैंने अपनी और पढ़े

मार्जिन का मतलब समझाया सरोज कुमारजी ने

Last Updated:  Monday, September 6, 2021  1:02 am

🔻कीर्ति राणा शिक्षक दिवस पर मुझे तीन शिक्षकों की खास तौर पर याद आ रही है। एक पीएमबी गुजराती आर्टस कॉलेज के दौरान हिंदी के प्रोफेसर रहे कवि सरोज कुमार जी, जिन्होंने कॉपी में मार्जिन छोड़े जाने का मतलब समझाया।दूसरे महाराजा शिवाजीराव उमावि में शिक्षक रहे विजय सिंह कौशल सर, जिनकी तिकड़म से मेरा घर बिजली के उजाले से रोशन हुआ, रेडियो आया और तीसरे हिमाविक्रं 30 के शिक्षक-सांई भक्त महेश चंद गुप्ता सर, जिनकी वजह से स्वावलंबी बनने-बचपन से और पढ़े

सहना पड़ा अपमान उन्हें भी, जो खुद ईश्वर की मूरत थे….

Last Updated:  Monday,   12:58 am

तुम सीता हो,इस समाज में स्थापित हर मर्यादित राम कीदेती रहोगी परीक्षा यहाँ हर निर्धारित काम की। प्रिय हो तुम भी अपनी सीता के बिल्कुल राम की तरहपर राम की तरह सहना भी पड़ेगा अपनी सीता से विरह। बैर उन दोनों के बीच था ही कहाँबस किया दोनों ने वही जो समाज ने कहा। रघुकुल के स्थापित मूल्य भला समाज ने भी कहाँ माने हैंपर तुम्हें वो सारे नियम व संस्कार निभाने हैं। अछूते तो वो भी नहीं रहे जो और पढ़े

ज्ञान पुंज के प्रवाहक शिक्षक…

Last Updated:  Monday,   12:53 am

“अज्ञान के विनाशक, ज्ञान के उपासक होते है शिक्षक। ज्योतिपुंज प्रकाश के संवाहक होते है शिक्षक। शिष्यों में सृजनात्मकता को विकसित करते हैं शिक्षक। विषाद के क्षणों में धैर्य रखना सिखाते हैं शिक्षक। सच्चे पथ-प्रदर्शक बन सत्य की राह दिखाते हैं शिक्षक। जीवन के यथार्थ का बोध कराते हैं शिक्षक। विषम परिस्थितियों में साम्य का परिचय करवाते हैं शिक्षक। प्रतिभा का मूल्यांकन कर चमकता हीरा बनाते हैं शिक्षक। मानवता के उत्थान हेतु सहिष्णुता का पाठ पढ़ाते हैं शिक्षक। ज्ञान पुंज और पढ़े

बाइक सर्विसिंग में भी पुरुषों के एकाधिकार को चुनौती दे रही महिलाएं

Last Updated:  Wednesday, September 1, 2021  4:29 pm

कीर्ति राणा इंदौर : शहर में अभी भी बाइक चलाती महिलाएं-युवतियां कम ही नजर आती हैं। ऐसे में बाइक सहित सभी तरह के टू व्हीलर की सर्विसिंग का काम महिलाएं करती नजर आएं तो मन में पहली जिज्ञासा यही होगी कि ये गाड़ी ठीक से सुधार भी पाएगी या नहीं।बाइक सुधार भी दी तो उसकी ट्रायल ले सकेगी या नहीं।पिपल्याहाना में ग्रेटर ब्रजेश्वरी कॉलोनी में कोठारी कॉलेज रोड या पिपल्याहाना में श्रीराम नगर गेट के पास से गुजरें तो इन और पढ़े

शहर में 4 बार हजारों की भीड़ इकट्ठी हो गई और पुलिस के खुफिया तंत्र को भनक तक नहीं लगी…!

Last Updated:  Thursday, August 26, 2021  7:45 pm

*प्रदीप जोशी* स्वच्छता में देश का नंबर वन शहर इंदौर कोरोना संक्रमण और सांप्रदायिक तनाव के मामले में भी अव्वल है, यह बात किसी से छुपी नहीं है। बस सियासतदार और शहर का जिम्मेदार प्रशासन ही जान कर अनजान बना हुआ है। बीते एक सप्ताह में तीन मामलों में चार बार हजारों की भीड़ जुट गई जो बड़ी चिंता का विषय है। तीन दिन में जो अलग अलग प्रदर्शन हुए उसने शहर के खुफिया तंत्र पर सवाल खड़े कर दिए। और पढ़े