बीमा कंपनियां एक घंटे में निपटाएं कैशलेस क्लेम, IRDAI ने दिए निर्देश

  
Last Updated:  Friday, April 30, 2021  "03:30 am"

नई दिल्ली : इंश्योरेंस रेगुलेटर एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने बीमाकर्ताओं को निर्देश दिया है कि वे कोविड-19 (Covid-19) से संबंधित किसी हेल्थ इंश्योरेंस क्लेम को जमा करने के एक घंटे के भीतर निपटाएं, ताकि मरीजों को जल्द छुट्टी मिल जाए। इरडा का यह निर्देश दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi HC) के एक आदेश के बाद आया। 28 अप्रैल को कोर्ट ने इरडा को बीमा कंपनियों को तत्काल निर्देश जारी करने के लिए कहा था।
दरअसल, 28 अप्रैल को दिल्ली उच्च न्यायालय ने बीमा कंपनियों को आदेश दिया है कि वे कोविड-19 मरीजों के बिल 30 से 60 मिनट में पास करें। अदालत ने कहा कि बीमा कंपनियां बिल को मंजूरी देने के लिए 6-7 घंटे नहीं ले सकतीं, क्योंकि इससे मरीजों को डिस्चार्ज करने में देर होती है।वहीं, बिस्तरों की जरूरत वाले लोगों को काफी इंतजार करना पड़ता है।

1 घंटे में निपटाना होगा कैशलैस क्लेम ।

RDAI ने सभी बीमा कंपनियों से कहा है कि वे इस बारे में सभी संबंधित पक्षों को जानकारी दे दें कि कोविड मरीज के अस्पताल में भर्ती होने पर और सभी जरूरी दस्तावेज जमा करने के बाद एक घंटे के भीतर कैशलेस क्लेम निबटाया जाना चाहिए।

मरीजों को मिलेगी राहत।

IRDAI ने कहा कि बीमा कंपनियां व टीपीए बिलों के भुगतान में देरी हो रही है। इस कारण अस्पताल प्रशासन मजबूरी में 8 से 10 घंटे तक मरीजों को बेड पर ही रखते हैं और जरुरतमंद मरीज बेड पाने से वंचित हो रहे हैं। इरडा के इस निर्देश के बाद मरीजों की भर्ती प्रक्रिया और डिस्चार्ज में तेजी आएगी।

इसके पहले इरडाई का यह निर्देश था कि दो घंटे के भीतर कैशलेस क्लेम निबटाए जाएं। IRDAI ने पॉलिसीधारकों को अपनी बीमा कंपनियों को ऐसी विसंगतियों के बारे में तुरंत सूचित करने के दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसमें कहा गया है कि बीमाकर्ता संबंधित राज्य सरकारों के साथ अस्पतालों के बारे में शिकायत दर्ज कर सकते हैं।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *