इंदौर में बनेगा ब्लैक फंगस का इंजेक्शन, 15 जून के बाद होगा उपलब्ध

  
Last Updated:  Monday, May 31, 2021  "02:14 pm"

इंदौर : ब्लैक फंगस के उपचार में कारगर माने जा रहे एम्फोटेरेसिन- बी इंजेक्शन का उत्पादन अब इंदौर में भी होने जा रहा है। सांवेर रोड स्थित मॉडर्न लैबोरेटरीज को यह इंजेक्शन बनाने की अनुमति प्रदेश सरकार ने दे दी है। कम्पनी का दावा है कि वह 15 जून तक 10 हजार इंजेक्शन इंदौर में उपलब्ध करा देगी।

एक सप्ताह में शुरू हो जाएगा उत्पादन।

मॉडर्न लैबोरेट्रीज के संचालक डॉ. अनिल खरया ने बताया कि यह इंजेक्शन पहले कालाजार नामक बीमारी में इस्तेमाल होता था। ब्लैक फंगस के इलाज में यह सबसे कारगर मेडिसिन है। इसके निर्माण में लगने वाला कच्चा माल विदेश से आता है। हमने उसका आर्डर दे दिया है। एक हफ्ते में कच्चा माल प्राप्त होते ही इंजेक्शन बनाना प्रारम्भ कर देंगे। डॉ. खरया ने बताया कि 15 से 20 जून के बीच यह इंजेक्शन ब्लैक फंगस से पीड़ित मरीजों के लिए मार्केट में उपलब्ध करा दिया जाएगा।

आधी कीमत में उपलब्ध होगा।

डॉ. अनिल खरया ने बताया कि फिलहाल जो एम्फोटेरेसिन- बी इंजेक्शन मिल रहा है वह करीब 7 हजार रुपए का पड़ता है। उनकी लैब में यह इंजेक्शन बनने के बाद मार्केट में आधी कीमत याने तीन से साढ़े तीन हजार रुपए में मिल सकेगा। डॉ. खरया के मुताबिक उनकी कम्पनी का इंजेक्शन इमल्शन फॉर्म में उपलब्ध होगा।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *