क्रिकेट में पहली बार विश्वकप विजेता रही भारतीय टीम का हिस्सा रहे यशपाल शर्मा का निधन

  
Last Updated:  Tuesday, July 13, 2021  "06:15 am"

इंदौर : पूर्व क्रिकेटर यशपाल शर्मा का मंगलवार को 66 साल की उम्र में निधन हो गया। उनका निधन हार्टअटैक से हुआ। वे 1983 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य रहे थे। वे पंजाब के लुधियाना शहर से ताल्लुक रखने वाले यशपाल शर्मा ने क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद कुछ दिनों तक अंपायरिंग भी की थी। बाद में उन्हें टीम इंडिया का सिलेक्टर नियुक्त किया गया था।
यशपाल को बेहतरीन क्रिकेटर बनाने में दिलीप कुमार की भी बड़ी भूमिका थी। खुद यशपाल शर्मा इस बात को स्वीकार किया था। उन्होंने कहा था कि जब तक मैं जिंदा हूं दिलीप साहब मेरे पसंदीदा रहेंगे। लोग उन्हें दिलीप कुमार कहते हैं मैं उन्हें यूसुफ भाई कहता हूं। उन्होंने ही क्रिकेट में मेरी जिंदगी को बनाया था।

खुद को संभाल नहीं पा रहा हूं: कपिल देव।

1983 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम के कप्तान रहे कपिल देव ने कहा कि मेरे पास शब्द नहीं हैं। मैं उनकी मौत की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। मैं अपने को संभाल नहीं पा रहा हूं। दिलीप वेंगसरकर ने कहा कि हम दोनों अच्छे दोस्त थे। उनकी निधन की खबर पर मुझे यकीन नहीं हो रहा है।

37 टेस्ट और 42 वनडे खेले।

​​​​​​यशपाल ने देश के लिए 37 टेस्ट में 33.46 की औसत से 1606 रन बनाए थे। इसमें दो सेंचुरी के साथ ही 9 हाफ सेंचुरी शामिल है। जबकि 42 वनडे में उन्होंने 28.48 की औसत से 883 रन बनाए। इस दौरान 4 हाफ सेंचुरी लगाई।

1978 में क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी
यशपाल शर्मा विकेटकीपर के साथ मीडियम फास्ट बॉलर भी थे। उन्होंने टेस्ट और वनडे में 1-1 विकेट भी लिया। उन्होंने क्रिकेट करियर की शुरुआत 13 अक्टूबर 1978 को वनडे से की थी। यह मैच सियालकोट में पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया था। इसके अगले साल उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में भी डेब्यू किया। यह मैच 2 अगस्त 1979 को लॉर्ड्स में खेला गया था।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *