15 सितंबर को संचालित होगा ‘डेंगू से जंग, जनता के संग’ अभियान

  
Last Updated:  Monday, September 13, 2021  "09:44 am"

रतलाम : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता से कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियाँ बरतने के साथ ही डेंगू के प्रसार को रोकने में सहयोग की अपील की है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि हमारे घरों के आस-पास अनावश्यक रूप से पानी का जमाव हो जाने से डेंगू पैदा करने वाले लार्वा को पनपने का मौका मिलता है। जागरूकता से कोरोना और डेंगू के साथ ही अन्य संक्रामक रोगों को रोका जा सकता है। उपचार से बेहतर है, एहतियात। मुख्यमंत्री चौहान ने विभिन्न जन माध्यमों से प्रदेश के नागरिकों से आग्रह किया है कि 15 सितम्बर को “डेंगू से जंग जनता के संग” अभियान में शामिल होकर डेंगू की जड़ों पर प्रहार करें और अपनी एवं परिजनों सहित आस-पड़ोस के लोगों की स्वास्थ्य की रक्षा में सहभागी बनें।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पिछले डेढ़ साल से हम लगातार कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। जनता के सहयोग से यह संभव हुआ है। मुझे यह कहते हुए संतोष है कि तात्कालिक रूप से कोरोना पर नियंत्रण पाने में हम लोग सफल रहे हैं। लेकिन असावधान नहीं रहना है। सावधानी जरूरी है और कोविड से जंग में सबसे महत्वपूर्ण है वैक्सीनेशन। हम टीका लगवाएं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में वैक्सीनेशन का काम मध्यप्रदेश में भी तेजी से चल रहा है। प्रधानमंत्री फ्री में वैक्सीन हमें दे रहे हैं। मध्यप्रदेश में अब तक 75 प्रतिशत से ज्यादा भाई-बहनों को, पात्र आबादी को वैक्सीन का पहला डोज़ लगाया जा चुका है। लेकिन अभी भी लोग वैक्सीनेशन का लाभ लेने से बचे हुए हैं। हमारा संकल्प है कि 30 सितम्बर तक हम मध्यप्रदेश की पात्र जनसंख्या को वैक्सीन का पहला डोज़ लगा देंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि केवल पहला टीका पर्याप्त नहीं है। पहले टीके के बाद दूसरा टीका लगवाना मतलब वैक्सीन का दूसरा डोज़ लेना भी जरूरी है। इसलिए अगर पहला टीका लगवाने के बाद समयावधि पूरी हो गई हो तो दूसरा टीका लगवाना मत भूलिए, तभी कोविड से पूरी सुरक्षा आपको मिलेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मेरी आपसे प्रार्थना है कि अभी तक आपने वैक्सीन न लगवाई हो तो बिल्कुल देर मत कीजिए। मुख्यमंत्री चौहान ने अब तक प्रथम डोज़ या दोनों डोज़ नहीं लगवा पाए नागरिकों से आग्रह किया है कि अपने निकट के वैक्सीनेशन सेंटर पर जाएं। तत्काल टीका लगवाइए और केवल आप ही नहीं परिवार में अगर कोई बचा हो जो टीका न लगवा पाया हो तो अपने परिजनों को टीका लगवाएं, पड़ोसियों को टीका लगवाएं, रिश्तेदारों को टीका लगवाएं, ग्रामवासियों को टीका लगवाएं, यह आपकी भी ड्यूटी है कि कोई बिना टीके के न रहे।

प्रधानमंत्री का जन्मदिन पर वैक्सीनेशन महाअभियान।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि वैक्सीनेशन महाअभियान 17 सितम्बर को फिर होने वाला है। उस दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का जन्मदिन भी है। उस दिन व्यापक पैमाने पर अभियान चलाकर टीके लगवाए जाएंगे। मेरी आपसे प्रार्थना है कि आपके गाँव में, आपके मोहल्ले में, आपके वार्ड में, अगर कोई रह गया हो तो खोज-खोज कर कन्वेंस करके टीके लगवाएं। एक निवेदन और कर रहा हूँ तीसरी लहर का खतरा अभी तक टला नहीं है। पॉजिटिव केस कोविड के लगातार आ रहे हैं और इसलिए मास्क लगाना, दूरी बनाए रखना, त्यौहारों में संयम बनाए रखने का पालन, यह अत्यंत आवश्यक है। मध्यप्रदेश में हम लगभग 75 हजार टेस्ट रोज कर रहे हैं। लेकिन एक दिक्कत आ रही है कुछ लोग टेस्ट के लिए सेम्पल देने से इंकार कर रहे हैं। ये बिल्कुल ठीक नहीं है। याद रखिए, कोविड संक्रमण का पता करने का एक ही तरीका है कि हम टेस्ट अधिकतम करते रहें। उसके लिए सेम्पल देना जरूरी है और सेम्पल प्रदेश के हर कोने से लेना पड़ेगा। इसलिए कृपया करके सेम्पल लेने अगर टीम आए तो इंकार मत कीजिए, सावधानी में ही सुरक्षा है।

डेंगू से जंग जनता के संग।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 15 सितम्बर को “डेंगू से जंग जनता के संग” अभियान चलाने का भी फैसला लिया गया है। प्रदेश में डेंगू के मामले सामने आए हैं। इसे देखते हुए यह अभियान चलाने का निर्णय लिया गया। सरकारी अमला अपना काम करेगा, कर भी रहा है। फॉगिंग, लार्वा नष्ट करना, स्वच्छता, जहाँ जल भराव है, वहाँ दवाई डालना आदि कार्य शासकीय अमला करेगा। लेकिन यह जंग भी जनता के सहयोग से लड़नी है। इसलिए मेरी आपसे अपील है कि आप कम से कम अपने घर में अगर कहीं सात दिन हो गए हों पानी भरे हुए, तो ऐसे जल का जमाव नहीं होने दें। ज्यादा दिन तक किसी भी पानी की टंकी में, बर्तन में, गड्ढे में और कूलर में, अगर कहीं भी पानी भरा है तो तत्काल उस पानी को खाली करवाएँ। गड्ढे इत्यादि में दवा डाली जा सकती है लार्वा मारने की। स्वच्छता जरूरी है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमने तय किया है कि 15 सितम्बर को सबेरे 10 बजे से लेकर 10.30 बजे के बीच आधा घंटा इस अभियान के लिए अपना समय निकालना है। नागरिकों के सहयोग से यह अभियान निश्चित ही सफल होगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आवश्यक हो तो अपने घर की सफाई कीजिए। भरे पानी को पलेटिए। आवश्यक हो तो लार्वा समाप्त करने के लिए जमा पानी में दवाई भी डाली जाए, कूलर, गड्ढे, पानी की टंकी आदि चैक कर लीजिए, क्योंकि डेंगू फैलता ही है लार्वा के पनपने से। हम वो परिस्थितियाँ न रहने दें जिसके कारण लार्वा पनपे। इसके लिए आपका सहयोग जरूरी है। मुख्यमंत्री चौहान ने विश्वास व्यक्त किया कि डेंगू से जंग मिलकर लड़ेंगे और जीतेंगे।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *