ऊंचा मुकाम हांसिल करने के लिए खुद को तराशते रहना जरूरी- नामदेव

  
Last Updated:  Sunday, October 17, 2021  "01:35 pm"

इंदौर : बॉलीवुड के ख्यात चरित्र अभिनेता गोविन्द नामदेव वेब सीरीज ‘विराम’ शूटिंग के सिलसिले में शनिवार को इंदौर आए। उन्होंने इस मौके पर स्थानीय अभिनव कला समाज में पत्रकारों से भी चर्चा की और अपने अनुभव साझा करने के साथ पत्रकारों के सवालों के भी जवाब दिए। हालांकि बॉलीवुड में ड्रग्स का बढ़ता चलन और शाहरुख खान के पुत्र आर्यन के ड्रग्स मामले में पकड़े जाने पर बोलने से वे बचते रहे।

लगातार खुद को तराशना जरूरी।

कई सुपरहिट फिल्मों और टीवी सीरियलों का हिस्सा रहे चरित्र अभिनेता गोविंद नामदेव ने कहा कि किसी भी कलाकार को सफलता हासिल करने के लिए खुद को तराशना बेहद जरूरी है। रियाज और रिहर्सल कलाकार को परिमार्जित करते हैं। नाटक में किरदार निभाते समय कलाकार दर्शकों के सामने किसी किरदार को लाइव निभाता है। दो- ढाई घंटे के नाटक में संवाद अदायगी में गलती न हो, चेहरे पर प्रसंगानुरूप भाव दिखाई दें, यही कलाकार की कसौटी होती है।

लक्ष्य के प्रति रहें समर्पित।

गोविंद नामदेव ने कहा कि अच्छा गुरु हो और छात्रों में सीखने की ललक हो तो अच्छा कलाकार बना जा सकता है। राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय जैसे संस्थान इसमें बड़ी भूमिका निभा रहे हैं।अनुपम खेर, पंकज कपूर सहित कई बड़े कलाकार राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय की ही देन हैं। वे खुद भी राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय के छात्र रहे हैं। बाद में उन्होंने वर्षों तक वहां कई नाटकों में विभिन्न किरदार निभाए और खुद को तराशा। नाटक, संगीत या अन्य कोई भी विधा हो, रंगमंच पर या कैमरे के सामने हमारा प्रेजेंटेशन उस स्तर का हो कि हमारा किरदार जीवंत प्रतीत हो। अभिनय की बारीकियां सीखकर, उनका अभ्यास करके ही हम इच्छित लक्ष्य तक पहुंच सकते हैं।

संस्कारों की कमीं से बढ़ी है अश्लीलता।

गोविंद नामदेव ने मनोरंजन के माध्यमों खासकर ओटीटी प्लेटफार्म पर अश्लीलता परोसे जाने को लेकर कहा कि इसका कारण संस्कारों में आई गिरावट है। केवल कानून बनाने से कुछ नहीं होगा। हमें अपने संस्कारों की ओर लौटना होगा।

सोच बदलने की है जरूरत।

नामदेव ने महिलाओं के प्रति बढ़ते अत्याचार के मामलों को लेकर कहा कि हमें अपनी सोच बदलनी होगी। महिलाओं को सम्मान देना हमारी परंपरा रही है। उसपर अमल करने की जरूरत है।

सिनेमा का भविष्य उज्जवल है।

अभिनेता गोविंद नामदेव ने माना कि कोरोना काल ने फ़िल्म इंडस्ट्री को भारी नुकसान पहुंचाया पर अब इंडस्ट्री में कामकाज शुरू हो गया है। थिएटर भी 50 फीसदी क्षमता में खुल गए हैं। जैसे ही वे सौ फीसद क्षमता से खुल जाएंगे, सिनेमाघरों की रौनक लौट आएगी। उन्होंने इस बात से इनकार किया कि ओटीटी प्लेटफार्म आने से सिनेमा के भविष्य पर कोई असर पड़ेगा। उनका कहना था कि नए- नए माध्यम आते रहेंगे पर सिनेमा और सिनेमाघरों की अपनी अहमियत बनी रहेगी।

वेब सीरीज विराम में निभा रहे वकील का रोल।

115 से अधिक फिल्मों के साथ कई टीवी सीरियलों और नाटकों में काम कर चुके गोविंद नामदेव वेब सीरीज ‘विराम’ की शूटिंग के लिए इंदौर आए हैं। उन्होंने बताया कि इस वेब सीरीज में वे नामी वकील का किरदार निभा रहे हैं। गोविंद नामदेव के साथ वेब सीरीज के निर्देशक हर्षवर्धन व्यास, कलाकार संजीव झा और अन्य कलाकार भी पत्रकार वार्ता में मौजूद रहे।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *