अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द होने से इंदौर के प्रियांश सहित चार बैडमिंटन खिलाड़ी बोत्सवाना में फंसे

  
Last Updated:  Wednesday, December 1, 2021  "12:04 am"

इंदौर : इंदौर के प्रतिभाशाली बैडमिंटन खिलाड़ी प्रियांश खुशवानी अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन स्पर्धा में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने के बाद हवाई सेवाएं रद्द होने से बोत्सवाना में ही फंस गए हैं। इंदौर जिला बैडमिंटन संगठन ने केंद्र सरकार, केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, क्षेत्रीय सांसद शंकर लालवानी,भारतीय बैडमिंटन संगठन आदि से प्रियांश को स्वदेश लाने की व्यवस्था करने का आग्रह किया है।

इंदौर जिला बैडमिंटन संगठन सचिव आर.पी.सिंह नैयर और सह सचिव धर्मेश यशलहा ने बताया कि इंदौर जिला सीनियर विजेता खिलाड़ी प्रियांश खुशवानी पहली बार अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन स्पर्धा खेलने बोत्सवाना के लोबात्से में गए थे।25 से 28 नवम्बर तक हुई बोत्सवाना अंतरराष्ट्रीय फ्युचर सीरीज बैडमिंटन स्पर्धा में प्रियांश खुशवानी पुरुष एकल के सेमीफाइनल तक पहुंचे। भारत के ही फरोघ संजय अमन ने प्रियांश खुशवानी को सेमीफाइनल में 21-18,23-21से हराया, छठवें क्रम के अमन ने भारत के ही नरेश शंकर अयर को फाइनल में 25-23,19-21,23-21से हराकर पुरुष एकल खिताब जीता। भारत की ही रेवती देवस्थले ने प्रथम क्रम प्राप्त दक्षिण अफ्रीका की जोहानिता स्चोल्टज को 18-21,21-13,21-13 से हराकर महिला एकल खिताब जीता।
इन चारों खिलाड़ियों को 28 नवम्बर की शाम भारत लौटना था लेकिन कतर एयरवेज की विमान सेवा आखिरी क्षणों में रद्द हो गई। फिर 30 नवम्बर की उडान से टिकट आरक्षित किया लेकिन वह भी रद्द हो गई। अफ्रीका में कोरोना के नए वेरिएंट की वजह से 7 दिसम्बर तक अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाएं स्थगित कर दी गई हैं। इसके चलते चारों खिलाड़ी वहीं फंसे हुए हैं। उनके पैरेंट्स भी चिंतित हैं। वे चाहते हैं कि उनके बच्चे कैसे भी भारत लौट आए। चारों खिलाड़ी अभी बोत्सवाना के भारतीय दूतावास के संरक्षण में हैं।
इंदौर जिला बैडमिंटन संगठन ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, पंजाबी साहित्य अकादमी म.प्र.संस्कति परिषद म.प्र.शासन की निदेशक नीरुसिंह ज्ञानी, सांसद शंकर लालवानी एवं भारतीय बैडमिंटन संगठन से खिलाड़ियों को भारत लाने और प्रियांश खुशवानी को इंदौर लाने की व्यवस्था करने का निवेदन किया है। इन खिलाडियों को भारत में चैन्नई और हैदराबाद में होने वाली अखिल भारतीय रैंकिंग बैडमिंटन स्पर्धाओं में भी हिस्सा लेना हैं जो इसी दिसम्बर माह में होना है।

प्रियांश के पिताजी दिलीप खुशवानी भी अपने बेटे की स्वदेश वापसी के हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *