दोहरे हत्याकांड का बाणगंगा पुलिस ने किया खुलासा, मां- बेटे की हत्या करने वाला आरोपी गिरफ्तार

  
Last Updated:  Friday, January 14, 2022  "12:32 am"

इंदौर : मां-बेटे के दोहरे कत्ल का पर्दाफाश करते हुए बाणगंगा पुलिस ने आरोपी को 24 घण्टे में गिरफ्तार कर लिया। हत्या के बाद फरार आरोपी को 400 कि.मी. पीछा कर ग्राम सिरसौली जिला अकोला महाराष्ट्र से पकड़ा गया।
आरोपी पति ने गहरी नींद में सो रही पत्नी व सौतेले पुत्र को पहले गैस टंकी से सिर पर मारा फिर चाकु से गला रेत कर उनकी हत्या की थी। पत्नी के पूर्व पति से अवैध संबंधों के कारण पति ने उसे और सौतेले बेटे को मौत के घाट उतार दिया।

यह था पूरा मामला।
 
इन्दौर शहर के थाना बाणगंगा पर दिनांक 12 जनवरी 2022 को फरियादी मंगेश पिता अनंतराव गावंडे नें थाने पर उपस्थित होकर सूचित किया कि वह गणेश धाम कॉलोनी में किराए के मकान में रहता है । तीन दिन पूर्व उसका परिचित कुलदीप दिघे अपनी पत्नी शारदा गुर्जर व पुत्र आकाश के साथ जिला अकोला महाराष्ट्र से इन्दौर में काम की तलाश में उसके पास आए थे, जो उसके साथ ही उसके कमरे पर रुके थे । शाम को साढ़े चार बजे के करीब जब वह काम से वापस कमरे पर आया तो उसे कमरे में शारदा गुर्जर व आकाश की खुन से सनी हुई लाशें दिखीं। फरियादी ने आशंका जताई थी की मृतका का पति कुलदीप दिघे ही दोनों की हत्या कर मौके से फरार हो गया है । उक्त घटना के संबंध में थाना बाणगंगा पर अपराध क्रमांक 68/2022 धारा 302 भादवि के अंतर्गत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
पुलिस टीम ने फोरेंसिक एक्सपर्ट बी.एल. मण्डलोई द्वारा घटना स्थल का वैज्ञानिक पद्धति से निरीक्षण करवाया। घटना स्थल पर मिले साक्ष्य के आधार पर पाया गया कि मृतका शारदा व उसके बेटे आकाश का धारदार हथियार से गला काट गाया है एवं कमरे में मिली गैस की टंकी से दोनों के सिर पर चोंट भी पहुचांई गई है । मृतका शारदा व मृतक आकाश के शव का परीक्षण अरविंदो अस्पताल से कराया गया, जिसमें दोनों की हत्या किए जाने की पुष्टि हुई । घटना के मुख्य साक्षी मंगेश गावंडे से प्रकरण के संबंध में पूछताछ की गई । मंगेश गावंडे ने बताया कि आरोपी कुलदीप दिघे, मृतका शारदा व मृतक आकाश गुर्जर ग्राम सिरसौली जिला अकोला महाराष्ट्र के निवासी थे।
मंगेश गावंड़े एवं आरोपी कुलदीप दिघे के बीच घटना दिनांक को शाम चार बजे मोबाइल फोन पर मराठी में हुई बातचीत की रिकार्डिंग का हिंदी में अनुवाद करवाया गया, जिसमें मंगेश गावंडे एवं मृतका शारदा के बीच अवैध संबंधों का खुलासा हुआ। बातचीत में आऱोपी कुलदीप नें मंगेश से कहा कि “मेरा जीवन अच्छा चल रहा था तुने हमको इंदौर क्यो बुलाया। शारदा तो हरामी है ही, लेकिन तुमने मेरे साथ गद्दारी की। तुम भी मरोगे और मैं भी मरुंगा आज ही, कमरे की चाबी संडास के बाजू में खांड में रखी है,  दरवाजा खोलो, आपको उसके पास में नींद अच्छी आयेगी, तुम शारदा के पास ही रहना अब”।

साक्षी मंगेश गावंडे से उक्त कॉल रिकार्डिंग के आधार पूछताछ किए जाने पर मंगेश गावंडे ने बताया कि वह पिछले तीन सालों से शारदा को जानता है। कुलदीप के पहले शारदा मंगेश के साथ ही करीबन 06 माह तक रही थी। इसलिये मंगेश ने शारदा को अपने साथ मे रहने के लिए इन्दौर बुलवाया था । शारदा कुलदीप दिघे से पीछा छुड़ाना चाहती थी, लेकिन कुलदीप उसको नही छोड़ रहा था, इसी बात पर दोनों का झगड़ा भी होता था ।  आरोपी कुलदीप दिघे, हत्या करने के बाद मंगेश के नाम की सिम वाला मोबाइल लेकर गया था। उक्त आधार पर कुलदीप के मोबाइल की लोकेशन निकलवाई गई ।

मोबाइल लोकेशन के आधार पर पकड़ाया हत्यारा।

आरोपी कुलदीप दिघे के मोबाइल नंबर को ट्रेस करने पर लोकेशन निंबोरा जिला जलगांव(महा.) की मिली । उक्त लोकेशन को गुगल मैप पर ट्रेस करने पर निंबोरा रेल्वे स्टेशन के पास होना पाया । मोबाइल लोकेशन के समय के आधार पर खंडवा व भुसावल स्टेशन के बीच ट्रेन सर्च करने पर निंबोरा रेल्वे स्टेशन के पास में कामायनी एक्सप्रेस ट्रेन की लोकेशन मिली । साक्षी मंगेश के अनुसार आरोपी अपने घर जाने के लिये भुसावल रेल्वे स्टेशन पर उतरकर अकोला के लिए ट्रेन या बस का उपयोग करेगा । बाद में दुबारा आरोपी कुलदीप के मोबाइल की लोकेशन प्राप्त करने पर जिला अकोला जाने वाले रुट पर ग्राम मल्कापुर एवं ग्राम शेगांव जिला बुलढाना(महा.) की मिली, जिसके आधार पर पाया कि आरोपी कुलदीप भुसावल से अकोला बस के माध्यम से जा रहा है । आरोपी की मोबाइल लोकेशन के रुट के आधार पर वरिष्ठ अधिकारियों से अनुमति प्राप्त कर सहा. उप निरी. सर्वेश फुके, प्र.आर. शंभुदयाल शर्मा, आऱ. हीरामणि मिश्रा व आऱ. मालाराम सिकरवार की टीम अकोला महाराष्ट्र के लिए रवाना की गई । पुलिस टीम द्वारा लगातार मोबाइल लोकेशन के आधार पर 400 कि.मी. का दुर्गम सफर मात्र 08 घण्टे में तय किया एवं आरोपी कुलदीप दिघे को उसके निवास के पते ग्राम सिरसौली पहुचने के पहले ही ग्राम सिरसौली पहुचकर लोकल पुलिस चौकी अडगांव थाना हिवरखेड की सहायता से आरोपी कुलदीप की धर-पकड़ हेतु जाल बिछाया । दिनांक 13.01.2022 को आरोपी कुलदीप दिघे जैसे ही अपने घर गांव सिरसौली पुलिस पुलिस टीम ने उसे धर- दबोचा।आऱोपी कुलदीप दिघे पिता विश्वनाथ दिघे उम्र 22 साल निवासी ग्राम लोनाग्रा थाना उरळ जिला अकोला, महाराष्ट्र से
घटना के संबंध में पूछताछ की गई तो उसने बताया कि मृतका शारदा गुर्जर के साथ उसकी शादी 02 वर्ष पूर्व हुई थी। उसकी शादी के पूर्व शारदा के चार पति रहे हैं। शारदा का पहला पति तानाजी लोकरे निवासी सिरसोली था, जिससे कोई संतान नही थी । दूसरा पति मदन कारंडे निवासी अकोला था जिससे पुत्र गणेश हुआ । तीसरा पति विजय गुर्जर निवासी ग्राम खामगांव था जिससे पुत्र आकाश(मृतक) का जन्म हुआ था । चौथा पति मंगेश गावंडे था जिसके साथ में करीबन 06 माह रही थी। उसके बाद में पांचवा पति वह (आरोपी) था, जिसके साथ उसकी शादी दो साल पूर्व हुई थी। शारदा और उसका पुत्र आकाश उसके साथ पिछले दो साल से रह रहे थे । मृतका शारदा गुर्जर नें नये साल में 01 जनवरी से मंगेश गावंडे पुनः बातचीत शुरु कर दी थी। कुछ दिन पूर्व शारदा गुर्जर नें काम की तलाश हेतु पूछा तो मंगेश गावंडे नें इंदौर आने के लिये कहा तब कुलदीप दिघे, शारदा गुर्जर व उनका 11 वर्षीय पुत्र आकाश इंदौर काम की तलाश में अकोला महाराष्ट्र से इंदौर आ गए थे । जो मंगेश गावंडे के साथ ही उसके कमरे पर गणेश धाम कॉलोनी में रुके थे । मृतका शारदा एवं मंगेश गावंडे की बीच बढ़ती नजदिकियों के कारण कुलदीप दिघे परेशान हो गया था। शारदा और मंगेश गावंडे के बीच पुनः अवैध संबंध स्थापित हो गए और शारदा आरोपी कुलदीप दिघे को छोड़ने की धमकी देने लगी थी । इसी के चलते कुलदीप दिघे नें दिनांक 12.01.2022 को सुबह करीबन 07 बजे मंगेश गावंडे के काम पर जाने के बाद में कमरे मे सो रहे शारदा व आकाश को पहले गैस टंकी से सिर में मारा फिर कमरे मे रखे सब्जी काटने के चाकू से दोनों का गला काट कर उनकी हत्या कर दी । पुलिस द्वारा मात्र 24 घंटे में घटना का खुलासा कर आरोपी को पकड़ने में सफलता प्राप्त की गई।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *