कोरोना काल में भी मप्र में 40 हजार करोड़ का निवेश हुआ- मुख्यमंत्री चौहान

  
Last Updated:  Friday, April 29, 2022  "11:21 pm"

राज्य शासन जारी करेगा नई स्टार्ट अप नीति।

केवल सबसे क्लीन नहीं बल्कि ग्रीन सिटी भी बनेगा इंदौर – मुख्यमंत्री चौहान।

एमपी ऑटो शो 2022 में मुख्यमंत्री चौहान ने की 15 व्हीकल्स की ऑल इंडिया लॉन्चिंग।

इंदौर : मध्यप्रदेश अब बीमारू राज्य नहीं है। 2021-22 में प्रदेश की ग्रोथ रेट (19.3%) देश में सर्वाधिक रही। प्रदेश की पर कैपिटा इनकम वर्तमान में एक लाख 24 हजार रूपए है। देश की जीडीपी में मध्यप्रदेश का योगदान 4.6 प्रतिशत है। प्रदेश निर्यात के क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रहा है। मध्यप्रदेश का गेहूं जिसे देश में सोने के दाने की ख्याति प्राप्त है, उसके निर्यात में कई गुना अधिक वृद्धि हुई है। मध्यप्रदेश का बासमती चावल कनाडा और अमेरिका तक अपनी नई पहचान बना चुका है। सिर्फ कृषि के क्षेत्र में नहीं बल्कि उद्योग के क्षेत्र में भी मध्यप्रदेश ने नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं। कोरोना काल में भी प्रदेश के उद्योग विभाग के अंतर्गत 650 से ज्यादा इंडस्ट्रीज का पंजीयन हुआ, जिन्होंने 40 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का निवेश कोविड-19 के दौरान ही किया है। सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम विभाग द्वारा भी औद्योगिक क्लस्टर्स का निर्माण किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के लिए हम अब आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश बनाने की राह पर तेज गति से आगे बढ़ रहे हैं।” मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को एमपी ऑटो शो-2022 में उपस्थित प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

इंदौर में आयोजित एमपी ऑटो शो-2022 में मुख्यमंत्री चौहान सहित, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा, सांसद शंकर लालवानी, विधायक रमेश मेंदोला, जयपाल सिंह चावड़ा, गौरव रणदिवे, राजेश सोनकर, जीतू जिराती, सुदर्शन गुप्ता, मधु वर्मा, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग के प्रमुख सचिव संजय कुमार शुक्ला, उद्योग विभाग आयुक्त पी. नरहरि, एमपीआईडीसी एमडी जॉन किंग्सली, संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र, कलेक्टर मनीष सिंह, मध्यप्रदेश औद्योगिक विकास निगम के एमडी रोहन सक्सेना, एसीएमए के डायरेक्टर जनरल विनी मेहता, एसआईएएम के वाइस प्रेसिडेंट विनोद अग्रवाल, सीआईआई पश्चिम क्षेत्र के चेयरमैन सुनील चोरडिया सहित अन्य अधिकारीगण और उद्योगपति कार्यक्रम में शामिल हुए।।

अब प्रतिवर्ष आयोजित होगा एमपी ऑटो शो।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया कि मध्य प्रदेश का यह पहला ऑटो शो अब हर साल आयोजित किया जाएगा। उन्होंने उद्योग विभाग और इंदौर जिला प्रशासन द्वारा इतने कम समय में भव्य ऑटो शो आयोजित करने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि निवेश की दिशा में यह एमपी ऑटो शो मध्यप्रदेश में नई क्रांति लाएगा। नौजवानों को रोजगार मिलेगा, अर्थव्यवस्था को गति मिलेगी और आत्मनिर्भर प्रदेश के निर्माण में एक बड़ी छलांग मध्य प्रदेश को मिलेगी।

सबसे क्लीन के साथ सबसे ग्रीन सिटी भी बनेगा इंदौर।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्र “मेक इन इंडिया” पर एमपी ऑटो शो का आयोजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि इंदौर देश की सबसे क्लीन नहीं बल्कि ग्रीन सिटी भी बनने जा रहा है। एमपी ऑटो शो में लॉन्च हुए इलेक्ट्रिक एवं ग्रीन व्हीकल को दृष्टिगत रखते हुए कहा जा सकता है कि वह दिन दूर नहीं जब ई-व्हीकल के उपयोग करने का नया रिकॉर्ड इंदौर बनाएगा।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *