स्टार्टअप पॉलिसी में सबसे आगे खड़ा हो गया है मप्र- निवेशक

  
Last Updated:  Saturday, May 14, 2022  "11:55 pm"

स्टार्टअप कॉन्क्लेव में मुख्यमंत्री ने स्टार्टअप से सफल व्यवसायी बने फाउंडरों से चर्चा की।

इंदौर : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने स्टार्टअप के जरिए सफल उद्यमी बने उद्योगपति व निवेशकों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि आपके द्वारा किये जा रहे काम आपको समाज में अलग पहचान देते हैं। अब आप मध्यप्रदेश के युवाओं की मदद करें। उनके स्टार्टअप में इन्वेस्ट कीजिए, जिससे वे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्वयं को स्थापित कर सके और अपने विचारों से समाज में बदलाव ला सकें। चर्चा के दौरान सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट, सांसद शंकर लालवानी, भारत सरकार के सचिव अनुराग जैन, एमएसएमई विभाग के सचिव पी. नरहरि एवं डॉ. निशांत खरे उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री के साथ चर्चा में लीड एंजल्स के डायरेक्टर ध्रूव नाथ, अपाइंट फाउंडर निमेश सिंह, एमवन एक्सचेंज के सह डायरेक्टर अभय सिंह राठौर, आईवेकप वेंचर्स के फाउंडर एण्ड मैनेजिंग पार्टनर विक्रम गुप्ता, श्री राम लाइफ इंश्योरेंस के मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज जैन, स्टार्टअप इंडिया गोल की हेड आस्था ग्रोवर, एमआईसी, एमओई, जीओआई के इनोवेशन डायरेक्टर डॉ. मोहित गंभीर, सीईओ सुदीप मोइनद्रू, एफआईसीसीआई की पास्ट प्रेसिडेंट उज्जवला सिंघानिया, आईएएन अल्फा फंड के पार्टनर जयदीप मेहता, टेस्टी बाइट पुणे के को-फाउंडर रवि निगम, डायरेक्टर 14ट्री किरण देशपाण्डे, पारीन शाह, मैनेजिंग जनरल पार्टनर मोहित गुलाटी, टीआईई एमपी जय जैन, टीआईई प्रेसिडेंट प्रदीप करमबेलकर, यूअर नेस्ट कैपिटल एडवाइजर्स प्रायवेट लिमिटेड मैनेजिंग डायरेक्टर सुनील गोयल तथा डलास वेंचर केपिटल फंड पार्टनर किरण चंद्र कल्लुरी सम्मिलित हुए। सभी ने कहा कि मध्यप्रदेश का यह कदम युवाओं के लिए एक बेहतर माहौल बना रहा है।
देश की सबसे अच्छी स्टार्टअप पॉलिसी में मध्यप्रदेश सबसे आगे खड़ा हो गया है। इसके लिये जरूरी है कि मध्यप्रदेश अपनी क्षमताओं को चिन्हित कर स्टार्टअप को आगे बढ़ाएं। कृषि प्रधान व्यवस्था होने के कारण किसानों और खेती के लिये लाए गये स्टार्टअप को स्थानीय स्तर पर प्रचारित किया जाए, जिससे लोगों को अपने काम में मदद मिल सके।

श्रीराम लाइफ इंश्योरेंस के मैनेजिंग डायरेक्टर मनोज जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज को हम मामाजी के रूप में ही पहचानते हैं। देश में आपकी एक अलग पहचान है। हम मध्यप्रदेश के निवासी होने पर गर्व महसूस करते हैं। हम स्टार्टअप को देखकर अचंभित भी हैं। युवाओं की नई सोच के साथ बिजनेस को नई ऊंचाइयां प्रदान कर सकते हैं।

स्टार्टअप पॉलिसी अच्छी, मार्केटिंग की जरूरत।

अन्य लोगों ने भी मुख्यमंत्री चौहान से चर्चा के दौरान कहा कि मध्यप्रदेश की स्टार्टअप पॉलिसी बहुत अच्छी है। इसके लिये एक बेहतर मार्केटिंग की जाना चाहिये। छोटे स्टार्टअप को सरकार का सहयोग मिलना चाहिये और स्टार्टअप पॉलिसी में लगातार बदलाव भी किए जाना चाहिए। इसके लिए एक वर्किंग ग्रुप बनाकर स्टार्टअप पॉलिसी के लिये निरन्तर विचार होते रहना चाहिए।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *