लंपी रोग से गायों को बचाने के लिए गौ सेवा संघ ने भी की पहल

  
Last Updated:  Sunday, September 18, 2022  "04:14 pm"

कीर्ति राणा इंदौर : मवेशियों में तेजी से फैल रहे लंपी रोग से बचाव के लिए सरकार तो रोकथाम के उपाय कर ही रही है लेकिन सरकार के भरोसे तो रहा नहीं जा सकता। राष्ट्रीय गौ रक्षा वहिनी गौ सेवा संघ (भारत) के मप्र इकाई के अध्यक्ष अमोल पाटिल ने अपने मित्रों के सहयोग से गौवंश को लंपी रोगनाशक टीका निशुल्क लगाने का अभियान शुरु किया है।अधिकाधिक पशुपालक गौवंश को यह टीका लगा सकें इसलिए उन्होंने वॉटस एप नंबर भी जारी किया है। हर दिन 500 इंजेक्शन की डिमांड भी आ रही है।

🔺सूचना मिलने पर टीम पहुंचती है। टीकाकरण के लिए
राष्ट्रीय गौ रक्षा वहिनी गौ सेवा संघ के प्रदेश अध्यक्ष अमोल पाटिल ने बताया, 14 सितंबर से गौवंश को टीकाकरण इंदौर शहर और ग्रामीण क्षेत्र की गौशालाओं में शुरु किया है। वॉट्स एप या मोबाइल पर जिस भी गौशाला से इंजेक्शन लगाने की सूचना मिलती है, संघ से जुड़े 15 युवा सदस्यों के साथ वेटरनरी डॉ. आकाश योगी पहुंच जाते हैं। यूं तो एक इंजेक्शन का मूल्य 70 रु है लेकिन हम निशुल्क लगा रहे हैं। इस टीकाकरण के लिए गौसेवकों द्वारा आर्थिक सहयोग किया जा रहा है।

हर दिन 400-500 इंजेक्शन की डिमांड।

गौवंश के लिए पशु पालकों द्वारा हर दिन कम से कम 500 इंजेक्शन की डिमांड इंदौर सहित आसपास के जिलों से आ रही है।

देपालपुर में लंपी रोग से पीड़ित एक गाय की जानकारी मिली है। विजय नगर में भी एक केस आया था लेकिन शासकीय टीम द्वारा टीका लगाने के बाद वह स्वस्थ हो गई। माँ नर्मदा गौशाला सनावादिया में 90, पंचकुइयां गौ शाला में 170, तुलसी नगर निपानिया में टीकाकरण किया गया। रविवार को सांवेर क्षेत्र की गौशालाओं में सभी जगह टीकाकरण किया जा रहा है। इंदौर की विभिन्न गौशालाओं से 400 टीके, बड़वानी जिले के बलवाड़ी सहित अन्य गांवों में 500 टीके भेज रहे हैं।

🔺टीके निशुल्क लगा रहे हैं, सूचना दें -पाटिल।

राष्ट्रीय गौ रक्षा वहिनी गौ सेवा संघ (भारत) के प्रदेश अध्यक्ष अमोल पाटिल ने कहा टीके की निशुल्क प्राप्ति के लिए 88891-22122 नंबर पर जानकारी दे सकते हैं।इंदौर के बाद इस अभियान को प्रदेश स्तर पर चलाया जाएगा।उन्होंने गौ सेवकों से सहयोग की अपील के साथ ही पशु पालकों, गौशाला संचालकों से अनुरोध किया है कि लंपी रोग फैलने से पहले गौवंश का टीकाकरण करवा कर उनका जीवन सुरक्षित करें।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *