देखते ही देखते पलभर में जलकर खाक हुआ अहंकारी रावण

  
Last Updated:  Thursday, October 6, 2022  "01:32 pm"

इंदौर : बरसते मेघ भी अन्यायी, अत्याचारी रावण का दंभ चूर – चूर होने से नहीं बचा सके। हजारों लोगों की हर्षध्वनि के बीच जैसे ही प्रभु श्रीराम ने बाण चलाया, अहंकारी रावण देखते ही देखते पल भर में जलकर खाक हो गया। जैसे रावण का नाश हुआ लोगों ने जय श्रीराम के जयकारे से आसमान गूंजा दिया।
ये नजारा विजयादशमी पर हर उस स्थान का था, जहां परंपरागत रूप से रावण दहन की परंपरा निभाई जाती है।

दशहरा मैदान पर 111 फीट ऊंचे रावण का दहन।

पश्चिम क्षेत्र स्थित दशहरा मैदान पर बरसों से रावण दहन की परंपरा निभाई जाती रही है। उसी कड़ी में इस बार 111 फीट के रावण और लंका का दहन किया गया। हजारों लोगों की मौजूदगी राम के बाण चलाते ही आसमान छूता रावण धूं – धूं कर जल उठा और चंद पलों में ही खाक हो गया।
इस दौरान पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल, गिरीश चितले, सनी राजपाल, मनोहर धवन, कमलेश खंडेलवाल और कार्यक्रम के आयोजक दीपक जोशी पिंटू व सत्यनारायण सलवाड़िया सहित कई विशिष्टजन भी मौजूद रहे।

इसके पूर्व होलकर राजपरिवार के सदस्यों ने दशहरा मैदान स्थित शमी के वृक्ष की परंपरा नुसार पूजा – अर्चना भी की।

चिमनबाग में 101 फीट के रावण का दहन।

चिमनबाग मैदान पर तेज बारिश में भी रावण दहन देखने के लिए परिवार सहित हजारों लोग पहुंचे। दशहरा उत्सव समिति के आयोजक वरिष्ठ कांग्रेस नेता अनिल यादव एवं अरविंद यादव के संयोजन में 101 फीट के रावण के साथ लंका का भी दहन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मध्यप्रदेश शासन के पूर्व मंत्री एवं वरिष्ठ विधायक सज्जन सिंह वर्मा व इंडेक्स कॉलेज के चेयरमैन सुरेश भदौरिया थे। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल, म.प्र कांग्रेस कमेटी के सचिव राजेश चौकसे,गिरधर नागर,मनोहर धवन,वरिष्ठ नेता श्याम सुंदर यादव, दीपू यादव,वरिष्ठ अधिवक्ता अमर सिंह राठौर,प्रदेश प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला,शहर कांग्रेस प्रवक्ता अमित चौरसिया भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

लंपी वायरस रूपी रावण का दहन।

नगर निगम रोड पर गौवंश के हत्यारे लंपी वायरस रूपी रावण का दहन किया गया। इस दौरान राधे – राधे बाबा, पंडित योगेंद्र महंत सहित कई विशिष्ट जन मौजूद रहे। कार्यक्रम का संयोजन सन्नी पठारे ने किया था।

इसके अलावा छावनी, तिलकनगर, विजयनगर और अन्य कई स्थानों पर भी रावण दहन के कार्यक्रम आयोजित किए गए और एक – दूसरे को दशहरे की शुभकामनाएं दी गई।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *