प्रवासी भारतीयों के स्वागत में पलक पांवड़े बिछाएगा इंदौर

  
Last Updated:  Tuesday, November 22, 2022  "01:41 pm"

महापौर ने की प्रवासी भारतीय सम्मेलन के संबंध में इंदौर के प्रबुद्धजनों के साथ चर्चा।

अतिथि देवो भवः की तर्ज पर स्वागत करने के दिए सुझाव।

मेहमानों का करेंगे ऐतिहासिक स्वागत।

अतिथियों का स्वागत तिलक लगाकर करने के साथ ही विभिन्न संस्थाएं देंगी निःशुल्क उपहार।

इंदौर के स्वादिष्ठ व्यंजन भी परोसे जाएंगे।

अतिथियों के साथ होगी हेरिटेज वॉक, पतंग उत्सव।

प्रवासी भारतीयों को इंदौर के इतिहास से कराएंगे रूबरू।

विभिन्न संगठनो के 300 से अधिक पदाधिकारी परिचर्चा में सम्मिलित हुए।

इंदौर : शहर में जनवरी 2023 माह में होनेवाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन को देखते हुए अतिथि देवो भवः की तर्ज पर इंदौर को में आने वाले प्रवासी भारतीयों के स्वागत के साथ ही उक्त आयोजन को यादगार बनाने के लिए महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने परिचर्चा का आयोजन सोमवार को ब्रिलियंट कन्वेंशन हॉल में किया। संभागायुक्त डॉ. पवनकुमार शर्मा, कलेक्टर इलैया राजा, निगमायुक्त प्रतिभा पाल भी इस दौरान मौजूद रहे। शहर के प्रबुद्धजन, विभिन्न एसोसिएशन व संगठनों के पदाधिकारी, मीडिया के साथी सहित 300 से अधिक प्रतिनिधियों ने इस परिचर्चा में भाग लिया। इस मोके पर सभापति मुन्नालाल यादव, महापौर परिषद के सदस्य व अन्य प्रबुद्धजन भी उपस्थित थे।

अतिथि देवो भव: की भावना से किया जाए प्रवासी भारतीयों का स्वागत।

महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने कहा कि हम सब इंदौरवासियो के लिए गर्व का विषय है कि भारत सरकार द्वारा प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए इंदौर का चयन किया है। इंदौर के बाशिंदों ने सक्रिय भागीदारी से इंदौर को न केवल देश का स्वच्छतम शहर बनाया है, बल्कि लगातार 6 वर्षाे से इंदौर को स्वच्छता में देश में सिरमौर भी बनाए रखा है। स्वच्छता अब इंदौर की पहचान बन चुकी है। उन्होने कहा कि इंदौर की हमेशा से अतिथि देवो भवः की परंपरा रही है। उसी के अनुरूप इंदौर में होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में पधारने वाले प्रवासी भारतीय एवं अतिथियों का स्वागत उमंग, उल्लास एवं उत्सवी माहौल में किया जाए।

इंदौर के इतिहास का सबसे गौरवमयी इवेंट, 4 हजार प्रतिनिधि करेंगे शिरकत।

महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने कहा कि प्रबुद्धजनों के परिश्रम से इंदौर को नई दिशा मिली है। यह इंदौर के इतिहास का सबसे गौरवशाली व ऐतिहासिक इवेन्ट है। हमारा सौभाग्य है कि इंदौर को प्रवासी भारतीय सम्मेलन की मेजबानी का अवसर मिला है। 80 देशों के 4 हजार से अधिक प्रवासी भारतीय सम्मेलन में आ रहे हैं। इंदौर की संस्कृति के अनुरूप पूरे आत्मीय भाव से हम उनका स्वागत करेगे। जिस प्रकार से परिजन के आने से हम उनका इमोशन के साथ स्वागत करते हैं, उसी इमोशनल फीलिंग के साथ प्रवासियों का स्वागत करेंगे। इस इवेंट के सफल होने पर इंदौर को विश्व में एक नई पहचान मिलेगी।

8 से 10 जनवरी 2023 तक होगा प्रवासी भारतीय सम्मेलन।

निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने इस अवसर पर प्रवासी भारतीय सम्मेलन के आयोजन के संबंध में प्रेजेटेशन के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने 8 से 10 जनवरी 2023 तक इंदौर में होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन में प्रवासी भारतीयों के आगमन के साथ ही एयरपोर्ट से कार्यक्रम स्थल तक आगमन-निर्गमन की व्यवस्था और पार्किंग व्यवस्था के संबंध में विस्तार से जानकारी दी
गई। मध्य प्रदेश शासन के विभिन्न विभागों द्वारा किए जाने वाले कार्याे के जानकारी भी दी गई।

सम्मेलन को लेकर दिए गए कई सुझाव।

इस अवसर पर शहर के विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा प्रवासी भारतीय सम्मेलन में विभिन्न देशों से आने वाले प्रवासी भारतीयों के स्वागत के लिए अपने अपने संस्थानों एवं संगठनों के माध्यम से किए जाने वाले कार्यो के संबंध में जानकारी देने के साथ सम्मेलन को लेकर कई सुझाव भी दिए। इन सुझावों में अतिथियों के साथ हेरिटेज वॉक, काईट फेस्टिवल, प्रवासी भारतीयों को इंदौर के इतिहास से रूबरू कराने तथा अपने संस्थानों एवं संगठनों के माध्यम से अतिथियों को निशुल्क उपहार देने, अपने संस्थानों में आने वाले अतिथियों का शहर के स्वादिष्ट व्यंजनों से स्वागत करने जैसे सुझाव प्रमुख रूप से शामिल थे।

हेल्थ इमरजेंसी की व्यवस्था हो।

पदमश्री जनक पलटा ने कहा कि प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दौरान बडी संख्या में आने वाले अतिथियो के स्वास्थ्य को दृष्टिगत रखते हुए, हेल्थ इमरजेंसी की व्यवस्था की जानी चाहिए।

सकारात्मक भूमिका निभाएगा मीडिया।

इंदौर प्रेस क्लब अध्यक्ष अरविंद तिवारी ने कहा कि इंदौर का मीडिया भी प्रवासी भारतीय सम्मेलन समारोह में सकारात्मक भूमिका निभाएगा।

शहर के विकास में योगदान पर हो चर्चा।

डॉ अनिल भण्डारी ने कहा कि इंदौर के प्रवासी भारतीयों के साथ बैठक कर शहर के विकास में उनके योगदान पर चर्चा की जाए। उक्त इवेन्ट को दृष्टिगत रखते हुए, कार्बन क्रेडिट के लिए भी कार्य करें, ईको फ्रेण्डली कार्यक्रम आयोजित किए जाएं। प्रवासी भारतीय अतिथियों का शहर के विभिन्न बाजारो, प्रमुख स्थानों पर स्वागत मंच लगाकर स्वागत सत्कार किया जाए।

त्योहारों की तर्ज पर हो शहर की सजावट।

वैश्य समाज के अरविंद बागडी ने कहा कि जिस प्रकार से त्योहारों पर शहर को सजाया जाता है उसी प्रकार प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दौरान भी मनोहारी सजावट होनी चाहिए।

डॉ.सृष्टि ने कहा कि प्रवासियों के इंदौर आगमन पर स्वागत के साथ ही बाजार इसतरह सजाए जाएं जहां उन्हे भारतीयता का अहसास हो।

राजेन्द्र मेहता ने कहा कि सभी होटल संचालक अपने होटल को बहूत ही अच्छे तरीके से सजाए। परिवहन की व्यवस्था होटल वाले स्वयं करें।

लजीज व्यंजनों के साथ होगा अतिथियों का स्वागत।

56 दुकान एसोसिएशन के गुंजन शर्मा ने कहा कि इंदौर के 56 दुकान में आने वाले प्रवासी भारतीय अतिथियों का स्वागत शहर के स्वादिष्ट पकवानों और व्यंजनो के साथ किया जाएगा, जिसका कोई शुल्क नही लगेगा।

पाथ इंडिया के नितिन अग्रवाल ने प्रवासी भारतीय के स्वागत हेतु इंदौर के एमआर 10 टोल नाका का सौन्दर्यीकरण करने व फूलों से स्वागत करने की बात कही।

योगेश मेहता ने कहा कि वे प्रवासी भारतीय अतिथियों को व्यवसायिक व औद्योगिक संस्थानो की विजिट कराने के साथ निवेश के लिए प्रेरित करेगे।

पतंग उत्सव का हो आयोजन।

सचिन बंसल ने कहा कि मकर संक्रांति का पर्व प्रवासी भारतीय सम्मेलन के बाद ही आएगा। ऐसे में आने वाले अतिथियों के लिए पतंग उत्सव का आयोजन किया जा सकता है।

इसके अलावा प्रवासी भारतीयों के सम्मान में सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने, होलकर कालीन परंपरा को दर्शाते स्वागत द्वार सजाने, इंदौर की ऐतिहासिक विरासत पर केंद्रित प्रदर्शनी लगाने और बुकलेट प्रकाशित कर अतिथियों को भेंट करने, महाकाल व ओंकारेश्वर का भ्रमण कराने सहित अन्य कई सुझाव भी परिचर्चा में दिए गए।

महापौर भार्गव, संभागायुक्त पवन कुमार शर्मा और कलेक्टर इलैया राजा टी ने तम्मम प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि उनके दिए सुझावों पर गौर कर उन्हें अमल में लाने के पूरे प्रयास किए जाएंगे।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *