दुनिया के समक्ष इंदौर के अतिथि सत्कार, संस्कृति, जीवन मूल्य और परंपराओं का अनूठा उदाहरण पेश करें..

  
Last Updated:  Tuesday, November 22, 2022  "02:01 pm"

इंदौर दुनिया के सपनों का शहर बना – मुख्यमंत्री चौहान।

प्रवासी भारतीय दिवस एवं ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में इन्दौर की जनभागीदारी के संबंध में संवाद कार्यक्रम संपन्न।

इंदौर : जनवरी 2023 में होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन और इन्वेस्टर्स समिट को लेकर व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। इन्हीं तैयारियों का जायजा लेने के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इंदौर के गणमान्य तथा प्रबुद्ध नागरिकों,व्यापारिक, औद्योगिक, धार्मिक व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों से आयोजन को भव्य और यादगार बनाने को लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि यह इंदौर ही नहीं बल्कि पूरे मध्यप्रदेश के लिए एक गौरवशाली आयोजन है। इसमें आप सब सक्रिय रूप से सहभागी बने।

इंदौर पूरी दुनिया के सपनों का शहर है।

मुख्यमंत्री चौहान ने इंदौर में होने वाले आयोजनों की जानकारी देते हुए बताया कि यहां चार महत्वपूर्ण कार्यक्रम होंगे। इनमें प्रवासी भारतीय सम्मेलन, इन्वेस्टर्स समिट, जी-20 की बैठकें और खेलों इंडिया जैसे महत्वपूर्ण आयोजन शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इंदौर को मेहमान नवाजी का बेहतर अवसर मिला है। इस दुर्लभ अवसर को गंवाएं नहीं। बेहतर व्यवस्थाओं और स्वागत-सत्कार से अतिथियों के दिलों में ऐसी छाप छोड़ें, जिसे वे कभी नहीं भूल पायें। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि इंदौर दुनिया का दिल जीतेगा। चौहान ने कहा कि इंदौर अब सिर्फ मेरे ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के सपनों का शहर है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इण्डोनेशिया में देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में आने का न्यौता दिया।

अतिथि देवो भव: की परंपरा के अनुरूप आयोजन को यादगार बनाएं।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विश्व में देश का नाम बढ़ाने वाले अतिथि इंदौर में आ रहे हैं। हमारा फर्ज बनता है कि हम उनके स्वागत-सत्कार में कोई कमी नहीं रखें। मेहमान जो हमारा होता है, वह जान से प्यारा होता है। अतिथि देवो भव:, हमारी परम्परा है। इस परम्परा के अनुरूप आयोजन को अविस्मरणीय बनाएं। उन्होंने इंदौर के लोगों से कहा कि यह आपका अपना आयोजन है, इसमें सक्रिय रूप से भागीदार बनें और दुनिया के सामने इंदौर की संस्कृति, जीवन मूल्य और परम्परा का बेहतर उदाहरण पेश करें। उन्होंने कहा कि प्रशासन, आयोजन से जुड़े विभिन्न संगठन, संस्थाएं हर सप्ताह अपने-अपने स्तरों पर तैयारियों की समीक्षा करें। उन्होंने आग्रह किया कि अतिथियों को ग्रामीण परिवेश का अनुभव भी कराएं। उन्होंने इंदौर में अतिथियों को घरों में ठहराने की पहल का स्वागत किया और कहा कि यह एक अभिनव पहल है। दुनिया के सामने इसके माध्यम से इंदौर एक अनूठा उदाहरण प्रस्तुत करेगा।

इस अवसर पर विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने उनके द्वारा की जाने वाली व्यवस्थाओं की जानकारी दी। उन्होंने आयोजन को भव्य और यादगार बनाने के लिये महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। सुझाव देने वालों में होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुमित सुरी, 56 दुकान एसोसिएशन के अध्यक्ष गुंजन शर्मा, सराफा एसोसिएशन के अविनाश शास्त्री, इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन के योगेश मेहता, खजराना गणेश मंदिर के अशोक भट्ट, जायसवाल समाज के अध्यक्ष किशोर जायसवाल, इंदौर प्रेस क्लब के अध्यक्ष अरविंद तिवारी, क्रेडाई के सचिव संदीप श्रीवास्तव, सोशल मीडिया इन्फ्ल्यूएंजर राहुल भोसले, कपड़ा व्यापारी एसोसिएशन के कैलाश मूंगड़, प्रेस्टीज समूह के डॉ. डेविश जैन, पद्मश्री जनक पलटा सहित अन्य गणमान्य लोग शामिल थे।

कार्यक्रम में संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा, सांसद शंकर लालवानी, महापौर पुष्यमित्र भार्गव, विधायक मालिनी गौड़, महेन्द्र हार्डिया, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा, सावन सोनकर, गौरव रणदिवे, मनोज पटेल, सुदर्शन गुप्ता, राजेश सोनकर विशेष रूप से मौजूद थे।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *