महापौर को लक्ष्य बनाकर अनर्गल प्रलाप कर रहे कांग्रेसी नेता – देवकीनंदन तिवारी

  
Last Updated:  Friday, January 13, 2023  "05:41 pm"

प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नेतृत्व में इंदौर का सफल आयोजन, जिसे अन्य देशों से आये अप्रवासी भारतीय, उद्योगपतियों ने सराहा उसे कांग्रेस पचा नहीं पा रही है।

बेबुनियाद आरोप लगाकर इस सफलता को विफलता में परिवर्तित करने का प्रयास कर रहे हैं कांग्रेसी नेता।

इंदौर : भाजपा के पूर्व नगर मीडिया प्रभारी देवकीनंदन तिवारी ने कांग्रेस के नेताओं से कहा कि अब सिर पकड़कर रोने से कोई फायदा नहीं होने वाला है। कांग्रेस पहले अपने गिरेबान में झांके, जिसने आज तक किसी का सम्मान नहीं किया, वे शहर के प्रथम नागरिक, महापौर पुष्यमित्र भार्गव के अपमान की बात कर रहे हैं, पहले आप तो बताइए कि आपने कभी किसी का सम्मान करने की कोशिश भी की है।आपके तो कई नेता ऐसे हैं जिन्होंने देश, विदेश में भारत का गौरव व सम्मान बढ़ाने वाले यशस्वी प्रधानमंत्री का भरे सदन में भी अपमान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। आपके युवराज ने तो आपके ही प्रधानमंत्री व कैबिनेट का घोर अपमान करते हुए उनके द्वारा लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के दस्तावेजों को सार्वजनिक रूप से फाड़कर फेंक दिया था। आपकी पार्टी के ऐसे नेता जो बड़े पदों पर आसीन हैं लेकिन वे प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति तक का अपमान करने में सबसे आगे रहते हैं, क्या वह सब भूल गए। यही तो आपके संस्कार और विरासत रही है।

मेयर पुष्यमित्र और अन्य प्रमुख भाजपा नेता तो इस पूरे आयोजन को सफल बनाने के लिए दिन रात एक कर रहे थे, उन्होंने कभी नहीं कहा कि उनका कहीं अपमान हुआ है, वे लगातार व्यवस्थाओं को संभाल रहे थे, आप कांग्रेसी क्यों चिल्ला रहे हो, जबकि कांग्रेस तो इतने बड़े आयोजन और उसकी सफलता के बारे में कभी सोच भी नहीं सकती थी।

आप तो यह भी भूल गए कि प्रधानमंत्री का एक निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत कार्यक्रम होता है, उसके बाद भी आप यह क्यों नहीं समझ रहे हो कि प्रधानमंत्री ने महापौर का तो सम्मान बढ़ाया ही है, अपितु पूरे इंदौर शहर के प्रत्येक व्यक्ति का सम्मान बढ़ाते हुए इंदौर को स्वाद की राजधानी बताया है।

यह पूरा कार्यक्रम प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नेतृत्व में अपार सफलता के साथ संपन्न हुआ है, जिसे कांग्रेसी नेता पचा नहीं पा रहे हैं और इस सफलता को विफलता में परिवर्तित करने का कुंठित प्रयास कर रहे हैं। हालांकि आपके इस तरह सिर पकड़कर रोने से कुछ भी नहीं होने वाला है। अब यह रूदन और आलाप कोई भी सुनने वाला नहीं है, इस पूरे आयोजन से देश, प्रदेश और इंदौर शहर को ही फायदा होने वाला है।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *