एक फरवरी से प्रारंभ होगा पांच दिवसीय गांधीसागर फ्लोटिंग फेस्टिवल

  
Last Updated:  Saturday, January 21, 2023  "06:57 pm"

टेंट सिटी 90 दिनों तक रहेगी।

एडवेंचर एक्टिविटीज 6 माह तक चलेगी।

अपनी तरह के पहले फ्लोटिंग फेस्टिवल की मेजबानी करने के लिए तैयार है मध्यप्रदेश।

मंदसौर : गांधीसागर फ्लोटिंग फेस्टिवल, मध्य प्रदेश के मंदसौर में आने वाले पर्यटकों को एक अनूठा ग्लैंपिंग और एडवेंचर एक्टिविटीज का अनुभव देने के लिएं पांच दिवसीय फ्लोटिंग फेस्टिवल 1 फरवरी 2023 से आयोजित किया जा रहा है। प्रमुख सचिव पर्यटन व संस्कृति और प्रबंध संचालक टूरिज्म बोर्ड शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि यह अद्वितीय और अपनी तरह का पहला फ्लोटिंग फेस्टिवल है जिसमे लैंड, एयर और वाटर बेस्ड एडवेंचर एक्टिविटीज रहेगी। इसमें 1 से 5 फरवरी तक महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। उसके बाद 3 माह तक पर्यटकों के लिए टेंट सिटी और 6 माह तक एडवेंचर एक्टिविटीज जारी रहेगी। पर्यटकों के रिस्पॉन्स को देखते हुए इसे अधिक अवधि तक बढ़ाया जा सकेगा।

गांधीसागर फ्लोटिंग फेस्टिवल प्रकृति प्रेमियों और साहसी लोगों के लिए एक शानदार पर्व है, जो उन्हें शहर की हलचल से दूर प्राकृतिक परिवेश में ले जाता है। फ्लोटिंग फेस्टिवल में फ्लोटिंग स्टेज, फ्लोटिंग मार्केट, बोट स्पा, बोट सफारी, लाइव संगीत और भी बहुत कुछ होगा। इसके अलावा, गांधीसागर जलाशय के पास कई रोमांचक साहसिक गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। गांधीसागर फ्लोटिंग फेस्टिवल वह जगह है जहां एडवेंचर के शौकीनों के साथ-साथ प्रकृति प्रेमियों को भी मां प्रकृति की गोद में ग्लेमिंग का अनुभव मिलता है। प्रत्येक लक्जरी टेंट को प्रीमियम सुविधाओं, मनोरम स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय व्यंजनों, इंडोर स्पोर्ट्स सम्मेलन सुविधाओं के साथ आरामदायक प्रवास सुनिश्चित करने के लिए सावधानीपूर्वक डिज़ाइन किया गया है। प्रकृति आधारित शिल्प के बारे में लोगों को जानकारी देने के लिए, क्षेत्र में विभिन्न प्रकार की कार्यशालाएं आयोजित की जाएंगी। यह पर्यावरण के अनुकूल शिल्प कौशल के बारे में जागरूकता और समझ को बढ़ावा देने का एक बेहतर तरीका है।

प्रमुख सचिव पर्यटन शिव शेखर शुक्ला ने कहा कि “गांधीसागर फ्लोटिंग फेस्टिवल मध्य प्रदेश के पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने और रोजगार की नई संभावनाएं पैदा करने के लिए शुरुआती 10 साल की पहल है। इस परियोजना के साथ, हमारा उद्देश्य राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दोनों पर्यटकों को आकर्षित करना है, जिससे उन्हें मध्य प्रदेश के विभिन्न आकर्षण का अनुभव करने का मौका मिलेगा। हम राज्य के भीतर कई गंतव्यों की खोज कर रहे हैं, जिनमें सफल पर्यटन स्थलों के रूप में विकसित होने की क्षमता है और इस दिशा में हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगे।”

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *