अगले तीन माह तक अधिकतम 10 हजार रु. होगा उड़ानों का किराया- उड्डयन मंत्री

  
Last Updated:  Thursday, May 21, 2020  "12:29 pm"

नई दिल्ली : नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने गुरुवार को प्रेसवार्ता कर 25 मई से शुरू होने वाली घरेलू उड़ानों और किरायों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उड़ान शुरू होने के दिन से अगले तीन महीने तक के लिए किराए फिक्स कर दिए गए हैं। ताकि विमानन कम्पनियां मनमानी नहीं कर सकें।

साढ़े तीन हजार से 10 हजार तक होगा किराया।

केंद्रीय उड्डयन मंत्री श्री पुरी ने बताया कि दिल्ली-मुंबई का 90-120 मिनट की उड़ान का न्यूनतम किराया 3 हजार 500 रुपए और अधिकतम 10 हजार रुपए होगा।

7 केटेगरी में बांटा फ्लाइंग रुट।

श्री पुरी ने बताया कि फ्लाइट रूट को समय के आधार पर 7 कैटेगरी में बांटा गया है।
1. 40 मिनट से कम की उड़ान
2. 40-60 मिनट
3. 60-90 मिनट
4. 90-120 मिनट
5. 120-150 मिनट
6. 150-180 मिनट
7. 180-210 मिनट

40% सीटें सस्ते में मिलेंगी।

पुरी के साथ मौजूद रहे सिविल एविएशन सचिव प्रदीप सिंह खरौला ने बताया कि 40% सीटें प्राइस बैंड के मिडपॉइंट से कम प्राइस पर बेची जाएंगी। उन्होंने उदाहरण दिया कि 3 हजार 500 रुपए से 10 हजार रुपए के प्राइस बैंड का मिडपॉइंट 6 हजार 700 रुपए होता है। यानी इस प्राइस बैंड में 40% सीटें 6 हजार 700 रुपए से कम प्राइस पर बुक करनी होंगी।

मिडिल सीट भी बुक होगी।

पुरी ने बताया शुरुआत में एक तिहाई फ्लाइट ही ऑपरेट की जाएंगी। एक बार शुरुआत करने के बाद 4-5 दिन देखेंगे, हालात सही लगे तो 10-15 फीसदी और बढ़ा देंगे।दो यात्रियों के बीच की सीट खाली रखेंगे तो भी सोशल डिस्टेंसिंग लागू नहीं हो पाएगी। इसलिए एयरलाइंस को मिडिल सीट बुक करने की परमिशन होगी।

वंदे भारत मिशन के जरिए 20 हजार भारतीयों को वापस लाए।

केंद्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि 5 मई को वंदे भारत मिशन की शुरुआत हुई थी। इसके तहत अब तक 20 हजार भारतीयों को वापस लाया गया है। हम अभी भी विदेशों में फंसे उन भारतीयों को वापस लाने की कोशिश में जुटे हैं, जो तनाव और मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। यही वंदे भारत मिशन का उद्देश्य है।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *