Category Archives: मेरे विचार

नागर शैली में सज रहा है, मां अन्नपूर्णा का आंगन

Last Updated:  Thursday, October 14, 2021  9:07 pm

बीस करोड़ की लागत से तीन राज्यो के कलाकार कर रहे अन्नपूर्णा मंदिर का नव श्रृंगार इंदौर, प्रदीप जोशी। माता अन्नपूर्णा का मूल स्थान वैसे तो काशी में है, जहां वे विश्वभुजा गौरी अथवा आदि अन्नपूर्णा के रूप में शक्तिपीठ के रूप में विराजमान है। उसी माता अन्नपूर्णा की असीम कृपा मध्यप्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर पर भी है। छह दशक पूर्व यानी 1959 में ब्रह्मलीन स्वामी प्रभानंद गिरि जी महाराज ने इंदौर शहर से बाहर माता अन्नपूर्णा के मंदिर और पढ़े

अपने ही नेताओं पर अविश्वास से ग्रसित है भाजपा और कांग्रेस

Last Updated:  Sunday, October 10, 2021  3:31 pm

जोबट उपचुनाव – अंचल में सियासी रंग तो छा गया मगर मतदाताओं की खामौशी कर रही बैचेन इंदौर, प्रदीप जोशी। शरद ऋतु शुरू हो चुकी है मगर दिन में क्वार की गर्मी का अहसास अभी भी कायम है। इस गर्मी का और ज्यादा अहसास करना हो तो अलीराजपुर जिले के जोबट चले आईये। यहां मौसम और सियासत के बीच गर्मी का मुकाबला चल रहा है। विधायक कलावती भूरिया के निधन के बाद रिक्त हुई जोबट विधानसभा सीट पर खासा सियासी और पढ़े

प्रेरणादायी धारावाहिक अनुपमा

Last Updated:  Monday, October 4, 2021  12:29 am

मनोरंजन भी हमारे लिए प्रेरणादायी हो सकता है, यह अहसास शायद स्टार प्लस के चर्चित धारावाहिक अनुपमा को देखने के बाद होता है। कैसे एक कुशल गृहिणी, सहनशीलता की मूरत, पतिव्रता स्त्री एक नई सोच के साथ उड़ने का आगाज करती है। अतीत को भूलकर आगे बढ़ने का निर्णय लेती है। पति द्वारा सदैव अपमानित होने एवं तलाक के बावजूद भी सदैव पति को सहयोग करने को तत्पर रहती है। धारावाहिक अनुपमा में अनुपमा को केवल परिवार के प्रति समर्पण और पढ़े

तूने जीवनदान दिया, तू ही पार लगाएगा..

Last Updated:  Friday, October 1, 2021  5:17 am

मैं मिट्टी की काया’पाँच तत्व मिलाकर,मालिक तूने इसे बनाया।अग्नि से क्रोधित हो जाती,पानी से ये गीली।हवा साँसों में घुल जातीफिर भी चलती जाती।आख़िर में धरती ये कहती,तुझे मुझमें मिल जाना है।ऊपर से आकाश बुलाता,तेरा यही ठिकाना है।जीवन की चक्की में देखो,सब कैसे पीसे जाते हैं।कभी अंधेरा कभी उजाला,फिर भी जीते जाते हैं।तूने जीवन दान दिया,तू ही पार लगाएगा।जब तू है मेरे साथ खड़ा,तो ये जीवन मुसकाएगा। कीर्ति सिंह गौड़

सुमन चौरसिया के संग्रहालय में मौजूद हैं लताजी के गाए 7 हजार गीतों की विरासत

Last Updated:  Monday, September 27, 2021  8:53 pm

कीर्ति राणा, इंदौर : स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर का अब इंदौर आने का मन नहीं करता लेकिन इसी शहर के सुमन चौरसिया के लिए लता जी के मुंबई स्थित घर के दरवाजे हमेशा खुले रहते हैं।इसकी वजह है सुमन का वह ग्रामोफोन रेकार्ड संग्रहालय जिसमें लता जी के गाए 7 हजार गीतों का संग्रह है। इनमें उन गीतों के रिकार्ड भी हैं जो खुद लता जी के निजी संग्रह में भी नहीं हैं।उन्होंने विधिवत फिल्मों में गाने की शुरुआत 1948 और पढ़े

सुशांत, सिद्धार्थ और सत्य का साक्षात्कार…

Last Updated:  Wednesday, September 22, 2021  6:53 pm

कोरोना त्रासदी ने जीवन को अनेक अकल्पनीय स्मृतियाँ प्रदान की हैं जो सदैव मन मस्तिष्क में जीवंत रहेंगी। इन्हीं अकल्पनीय स्मृतियों में सुशांत और सिद्धार्थ जैसे अनमोल युवा प्रतिभाकारों का खोना भी है, जिन्होने स्वयं के प्रयत्नों से एक नई ऊंचाई का मुकाम हासिल किया, परंतु जीवन के सत्य को कोई भी झुठला नहीं सकता। दौलत, शोहरत, काया और पहुँच कुछ भी मृत्यु की नियति में हस्तक्षेप नहीं कर सकती। जीवन का सबसे कड़वा सच मृत्यु है। हमारा सम्पूर्ण जीवन और पढ़े

त्योहारों से बढ़ाएं जीवन की आध्यात्मिक पूंजी

Last Updated:  Tuesday, September 14, 2021  4:22 am

कोरोना त्रासदी ने जीवन के सत्य पक्ष को उजागर किया है कि शरीर नश्वर है और केवल ईश्वर ही परम सत्य है। हम दुनियादारी की उलझनों में अंतर्रात्मा से मिलन के क्षण को महत्व नहीं देते। स्थितियों और परिस्थितियों से जुझते-जुझते हम स्वयं ही नष्ट हो जाते हैं। तेरा-मेरा, इसका-उसका और अपना-पराया, इन सभी व्यर्थ चिंतन में जीवन के अमूल्य आनंद के क्षणों का क्षय कर देते हैं। हमारी मनोकामनाओं, अभिलाषाओं और इच्छाओं का कभी अंत नहीं होता। एक इच्छा और पढ़े

जल प्रबंधन में भी इंदौर को नम्बर वन बनाएंगे, 63 वे स्थापना दिवस पर अभ्यास मण्डल ने लिया संकल्प

Last Updated:  Monday, September 13, 2021  7:17 pm

कीर्ति राणा इंदौर : अभ्यास मंडल ने अपना 63 वां स्थापना दिवस शहर के प्रबुद्धजनों के साथ 63 दीप प्रज्जवलित कर मनाया।सांसद शंकर लालवानी की मौजूदगी में जब अभ्यास मंडल ने 63 वें साल में जल प्रबंधन की दिशा में काम करने और शहरवासियों की भागीदारी से इंदौर को इस क्षेत्र में भी नंबर वन का खिताब दिलाने का संकल्प लिया तो सांसद ने भी विश्वास दिलाया कि इस काम में संबंधित विभाग के अधिकारियों से आपसी सहमति बनवाने के और पढ़े

आज वक्त के साथ- साथ मेरे पांव हैं..

Last Updated:  Saturday, September 11, 2021  8:19 pm

‘वक़्त और मैं’ आज और कल में मेरा सब बीत गयाजो कभी पीछे मुझसे थावो भी मुझसे जीत गया। हार का दंश मुझे अंदर से निचोड़ रहा थामेरे सपनों का महल फिर भी आगे खड़ा था। एक पल को सोचा हार मान लूँपर जब गुज़रे रास्ते की दूरी देखीतो लगा कि ख़ुद में थोड़ी और जान डाल दूँ। फिर शुरू किया है मैंने सफ़र एक और बारइस बार मंज़िल ख़ुद कर रही है मेरा इंतज़ार। वक़्त के इम्तिहान भी क्या और पढ़े

सरे राह चलते मिल गया था, गुरुदेव कहने वाला..

Last Updated:  Tuesday, September 7, 2021  11:24 pm

स्मृति शेष : योगेश देवले 🔻कीर्ति राणा । मेरा योगेश देवले से सरे राह परिचय हुआ था, उन दिनों मैं उज्जैन पदस्थ था। एक दोपहर स्कूटर से कोठी रोड की तरफ जा रहा था। एक हाथ से गाड़ी का हैंडल थाम रखा था, दूसरे हाथ में नमक लगा जाम (अमरुद) था। गाड़ी की स्पीड कम ही थी। उसी रास्ते पर सड़क किनारे खरामा खरामा घुंघराले बाल, बोलती सी आंखों वाला युवक जा रहा था। उसने तो कहा नहीं, मैंने अपनी और पढ़े