नागपुर से 4 साल के बालक का अपहरण कर भागा आरोपी क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आया

  
Last Updated:  Tuesday, September 15, 2020  "12:39 am"

इंदौर : नागपुर पुलिस ने मंगलवार को डीआईजी इंदौर शहर हरिनारायणाचारी मिश्र को सूचना दी थी कि एक व्यक्ति 04 वर्ष के मासूम का अपहरण कर इंदौर के रास्ते भाग रहा है। इस सूचना पर डीआईजी मिश्र ने क्राइम ब्रांच की टीम को संबंधित अपहरणकर्ता की तलाश के निर्देश दिए।

क्राइम ब्रांच इंदौर की टीम ने सघन जांच पड़ताल अभियान चलाते हुए आरोपी फारूख उर्फ बम्बइया पिता इब्राहिम खान उम्र 55 वर्ष मूल निवासी वार्ड नम्बर 13 विराटनगर, भूमि प्रशासन चौक तिंगतौलिया नेपाल, हाल मुकाम: कोहिनूर होटल नागपुर को हिरासत में ले लिया। उसके कब्जे से 04 वर्ष के मासूम बच्चे अदनान को बरामद किया गया।

आरोपी से पूछताछ और नागपुर पुलिस से मिली जानकारी के आधार पर जो घटनाक्रम सामने आया उसके मुताबिक फिरदौस फातिमा पति शब्बीर खान उम्र 30 वर्ष नि मोटा ताजबाग दरबार मुख्य गेट फुटपाथ शक्करदरा नागपुर, स्थायी पता पुर्णा जिला परभणी द्वारा शक्कर दारा थाना नागपुर में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी कि वह अपने पति व बच्चों सहित फुटपाथ के आसपास रहती है। उसका बेटा अदनान उम्र करीबन 04 वर्ष को जबरन नामक व्यक्ति अपहरण कर के ले गया है। अपहरण की रिपोर्ट उक्त घटनाक्रम के परिपेक्ष्य में थाना शक्करदारा नागपुर में अपराध क्रमांक 433/20 धारा 363 भादवि के तहत पंजीबद्ध की गई।
नागपुर पुलिस द्वारा आरोपी के संबंध में इंदौर पुलिस को सूचना दी गई जिसके रास्ते को ट्रेस करते हुए क्राइम ब्रांच की टीम ने आरेापी को ढक्कनवाला कुआं के पास इंदौर से धर दबोचा। उसके कब्जे से 04 वर्षीय बालक को भी बरामद किया गया। आरोपी वोल्वो बस से नागपुर से आया था और शाम की वोल्वो बस से दिल्ली के रास्ते नेपाल जाने वाला था।

नागपुर पुलिस के हवाले किया जाएगा आरोपी।

आरोपी बालक को कहाँ ले जा रहा था और क्यूँ अपहरण कर के लाया था इसको लेकर नागपुर पुलिस आरोपी से पूछताछ कर खुलासा करेगी। उसे नागपुर पुलिस को सौप दिया जाएगा।आरोपी वर्ष 1996 में नेपाल से काम के लिये भारत आया था। तबसे महाराष्ट्र के अधिकांश शहरों में जैसे मुंबई ठाणे, पुणे, औरंगाबाद व नागपुर आदि जगहों पर काम के सिलसिले में रहा। हर साल छः माह में वह नेपाल जाता रहता था। आरोपी ने मुंबई में रहने के दौरान वर्ष 1998 में मुंबई की एक युवति से निकाह करना स्वीकार किया। उसने बताया कि विवाह के छः माह उपरांत उसकी मौत हो गई थी। आरोपी लकड़ी पालिश का काम करता है। काम के सिलसिले में नागपुर में होटल कोहिनूर में नौकरी कर रहा था। वहीं वह अपहृत बालक के परिजनों के संपर्क में आया। पहले बच्चों को दूध, बिस्किट और टॉफी देकर उनसे निकटता बढ़ाई। बाद में मौका पाकर एक बच्चे का अपहरण कर नेपाल के लिए भाग निकला।
आरोपी गांजे के नशा करने का भी आदी है। उसके कब्जे से नकदी 15 हजार रूपये, दैनिक उपयोग की वस्तुुओं से भरा बैग और इंदौर से दिल्ली जाने के लिये बुक कराया गया टिकट बरामद हुआ है। नागपुर पुलिस को सूचित किया गया है, जिसके आने पर आरोपी तथा बालक को नागपुर पुलिस के सुपुर्द कर दिया जाएगा।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *