2 लाख 86 हजार ने नहीं भरा रिटर्न..!

  
Last Updated:  Thursday, January 9, 2020  "02:29 pm"

इंदौर : आयकर विभाग ने मप्र- छत्तीसगढ़ रीजन में वर्ष 2019-20 के लिए मिले लक्ष्य का 45 फीसदी राजस्व 31 दिसंबर तक प्राप्त कर लिया हैं। मप्र- छत्तीसगढ़ रीजन को 27844 करोड़ राजस्व वसूली का लक्ष्य मिला है। अभी तक 14020करोड़ रुपए की कर वसूली हो चुकी है। फ़िलहाल इस वित्तीय वर्ष के तीन माह शेष हैं जिसमें लक्ष्य को पूरा कर लिया जाएगा।
ये बात प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त अजयकुमार सिंह चौहान ने कही। वे स्थानीय आयकर भवन में पत्रकार वार्ता के जरिये अपनी बात रख रहे थे।

7 लाख से अधिक नए करदाता जोड़ने का लक्ष्य।

उन्होंने कहा कि मप्र-छत्तीसगढ़ रीजन में 3 लाख 28 हजार 910 नए आयकरदाता जोड़े गए हैं। इसे 7 लाख के पार ले जाने का लक्ष्य रखा गया है।

13868 करोड़ की डिमांड निकाली।

प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त श्री चौहान ने बताया कि वर्ष 2019- 20 में 12908 असेसमेंट और 24128 स्क्रूटनी असेसमेंट के जरिये 13868 करोड़ की कुल डिमांड निकाली गई है जिसकी वसूली के प्रयास किये जा रहे हैं।

सर्वे में 55.63 करोड़ की काली कमाई उजागर की।

श्री चौहान ने बताया कि चालू वित्तीय वर्ष में 31 दिसंबर तक एमपी- सीजी में 76 सर्वे करके 55.63 करोड़ की काली कमाई उजागर कर उसपर 4.76 करोड़ का टैक्स वसूला गया। इंदौर में 19 सर्वे के जरिये 14.72 करोड़ की काली कमाई उजागर की गई।

2 लाख 86 हजार ने नहीं भरा रिटर्न।

प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त ने बताया ऐसे 2 लाख 86 हजार 47 एसेसी हैं जो हर साल रिटर्न दाखिल करते हैं पर इस बार नहीं भरा। इन सभी के रिटर्न 31 मार्च तक भरवाए जाएंगे। जो रिटर्न दाखिल नहीं करेंगे उन्हें कई सुविधाओं से हाथ धोना पड़ सकता है।

155 करोड़ बकाया हैं।

पत्रकार वार्ता में बताया गया कि पेन कार्ड के आधार पर सेल्फ असेसमेंट टैक्स नही चुकाने वाले करदाताओं पर 155 करोड़ बकाया हैं, जिनसे वसूली की कार्रवाई की जा रही है। इसी के साथ समय पर कर जमा नहीं करने वाले अथवा कम टैक्स जमा करने वाले अग्रिम करदाताओं को भी चेतावनी दी जा रही है कि वे आयकर का भुगतान वाजिब और समय पर करें।

कम्पाउंडिंग एप्लिकेशन देकर कार्रवाई से बचें।

प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त एमपी- सीजी ने कहा कि जिन करदाताओं पर अभियोजन की कार्रवाई चल रही है, वे कम्पाउंडिंग एप्लिकेशन दाखिल कर कार्रवाई से बच सकते हैं। 31 जनवरी इसकी अंतिम तारीख है। कम्पाउंडिंग फीस का निर्धारण बाद में किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ऐसे 760 केस हैं जिनमें 260 टीडीएस से सम्बद्ध हैं।

670 बेनामी संपत्ति अटैच की।

प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त श्री चौहान ने बताया ऑपरेशन क्लीन के तहत 13800 से ज्यादा ऐसे खातों की जानकारी निकाली गई है जिनमें लाखों रुपए जमा हुए पर खाताधारक उसका सोर्स नहीं बता पाए। इसी के साथ 670 बेनामी संपत्तियों को अटैच किया गया है।

Facebook Comments

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *